ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए ये हैं जरूरी कागजात
ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए आपके पास पैन कार्ड, एड्रेस प्रूफ और बैंक खाता होना जरूरी है. जब आप किसी ब्रोकर के यहां ट्रेडिंग अकाउंट ओपन कराते हैं तो यह ब्रोकर आपको एक अकउंट की आईडी मुहैया कराता. इस आईडी के जरिये आप खुद भी ट्रेड कर सकते हैं. इसके लिए आपके मोबाइल, पीसी, टेबलेट में इंटरनेट की सुविधा होनी जरूरी है. इस अकाउंट के जरिये ब्रोकर को निश्चित शुल्क चुकाना होता है. अगर आप खुद से सौदे नहीं करना चाहते तो आप अपने ब्रोकर को फोन के जरिये सौदे की खरीद या बिक्री कर सकते हैं.

PAMM निवेशक

Demat vs Trading Account: डीमैट व ट्रेडिंग अकाउंट में क्या अंतर होता है? दोनों के क्या इस्तेमाल हैं?

शेयर बाजार में निवेश करने वालों ने डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट के बारे में बहुत सुनते हैं, पर अधिकांश लोगों को इन दोनों खातों के बीच का अंतर नहीं पता होता है। आइए आसान भाषा में जानते हैं डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट के बीच क्या-क्या अंतर होता है?

शेयर मार्केट में निवेश के लिए डीमैट अकाउंट दोनों का होना जरूरी

© - फोटो : pixabay शेयर बाजार - फोटो : pixabay

बता दें कि इक्विटी ट्रेडिंग अकाउंट और शर्तें मार्केट में निवेश के लिए किसी भी व्यक्ति के पास डीमैट अकाउंट का होना सबसे पहली शर्त है। डीमैट अकाउंट के साथ एक और खाता अटैच होता है जिसे ट्रेडिंग अकाउंट कहते हैं। जरूरत के आधार पर दोनों निवेशक दोनों का अलग-अलग इस्तेमाल करते हैं। डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट दोनों अलग-अलग तरह के खाते होते हैं। डीमैट अकाउंट वह अकाउंट होता है जिसमें आप अपने असेट या इक्विटी शेयर रख सकते हैं। वहीं दूसरी ओर ट्रेडिंग अकाउंट वह खाता होता है जिसका इस्तेमाल करतेह हुए आप इक्विटी शेयरों में लेनदेन करते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट और शर्तें

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बुक्स ऑफ ओरिजिनल एंट्री का क्या अर्थ है?

बिज़नेस में इन्वेंट्री नियंत्रण या स्टॉक कंट्रोल के क्‍या मायने हैं?

अर्जित व्यय या Accrued Expenses के बारे में विस्‍तार से जानें

लेखांकन देयताएं या अकाउंटिंग लायबिलिटीज़ क्या हैं?

कैश अकाउंटिंग: परिभाषा, शर्त, स्टेटमेंट और उदाहरण

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

PAMM Trading

PAMM (अंग्रेजी PAMM से - प्रतिशत आवंटन प्रबंधन मॉड्यूल) एक पुराना, समय के अनुसार जाँचा गया, सरल और सुविधाजनक निवेश सेवा है। निवेशक एक या अधिक अनुभवी PAMM प्रबंधकों द्वारा प्रबंधित किए जाने वाले फंड को स्थानांतरित करके पैसा कमाते हैं।
PAMM प्रबंधक निवेशकों के फंड्स को प्रबंधित करने के लिए अतिरिक्त लाभ प्राप्त करते हैं।
PAMM प्रबंधक निवेशकों के साथ बराबरी से अपने स्वयं के धन का ट्रेडिंग अकाउंट और शर्तें जोखिम उठाता है, जो उनकी पूँजी के लिए अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करता है।

PAMM प्रबंधक

PAMM प्रबंधक

  • 1 ट्रेडर के कैबिनेट/निवेश उत्पाद/PAMM में, या नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके एक PAMM प्रबंधक के रूप में पंजीकरण करें।
  • 2 एक अकाउंट प्रकार (प्रो या जीरो) और लेवरेज (1: 1000 तक) का चयन करके एक PAMM अकाउंट खोलें (कुल 10 अकाउंट तक) खोलें। करेंसी और क्रिप्टोकरेंसी युग्म, गोल्ड, सिल्वर, तेल और स्टॉक सूचकांक ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध होंगे।
  • 3 आपका शुल्क और अन्य निवेश शर्तें इंगित करते हुए निवेश शर्तें (प्रस्ताव) निर्धारित करें।
  • 4 पंजीकरण करने और आपके PAMM अकाउंट में फंड्स जोड़ने के बाद, ट्रेडिंग और निवेशकों के फंड्स को आकर्षित करना प्रारंभ करें।
  • 5 आपका लाभ एक ट्रेडर के रूप में आपकी ट्रेडिंग और एक PAMM प्रबंधक के रूप में आपके शुल्क पर आधारित होगा।

USDJPY resistance test

The US dollar is turning higher against the Japanese yen currency after the pair bounced from support and moved above the 111.50 level. Technical analysis shows that the USDJPY pair is now working inside a large rising price channel across various time frames A confirmed breakout above the price channel should increase buying pressure towards the 113.00 level.

The USDJPY pair is only bearish while trading below the 110.00 level, key support is found at the 108.90 and 107.50 levels.

The USDJPY pair is only bullish while trading above the 110.00 level, key resistance is found at the 112.20 and 113.00 levels.

5 मिनट में जानिये कमोडिटी मार्केट में कैसे करें ऑप्शन ट्रेडिंग

5 मिनट में जानिये कमोडिटी मार्केट में कैसे करें ऑप्शन ट्रेडिंग

इसे एक उदाहरण से समझा जा सकता है. वायदा कारोबार में आप 30 हजार के भाव ट्रेडिंग अकाउंट और शर्तें पर गोल्ड की एक लॉट खरीदते हैं. लेकिन सोने का भाव 1000 रुपये टूट जाता है और 29 हजार तक आ जाता है तो एक लॉट पर आपको एक लाख रुपये का नुकसान उठाना पड़ता है. वहीं, ऑप्शन ट्रेडिंग में अगर आपने कॉल ऑप्शन खरीदा है तो 50 रुपये प्रति दस ग्राम प्रीमियम चुकाकर यह नुकसान घटकर सिर्फ 5000 रुपये रह जाता है.

फ्यूचर ट्रेडिंग से कैसे अलग है ऑप्शन ट्रेडिंग
फ्यूचर बाज़ार में हेजिंग का टूल नहीं है यानी इसमें सौदे को ओपन (खुला) छोड़ते हैं या फिर स्टॉपलॉस लगाते हैं . अगर स्टॉपलॉस लगाने पर उस स्तर पर सौदा खुद ही कट जाता है लेकिन नुकसान जरूर होता है. स्टॉपलॉस न लगाया तो नुकसान ज्यादा होता है. जबकि पुट ऑप्शन में खरीदे हुए सौदे को हेज कर सकते हैं. इसी तरह बिके हुए सौदे को कॉल ऑप्शन के जरिये नुकसान की सीमा को बांध सकते हैं.

रेटिंग: 4.11
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 830