Stock market: बाजार खुलने से पहले जानें निफ्टी-बैंक निफ्टी में कहां है कमाई के मौके

वीरेंद्र कुमार ने कहा कि निफ्टी का पहला रजिस्टेंस जोन 18610-18657 और दूसरा बड़ा रजिस्टेंस जोन 18705-18745 है। इसका पहला बेस जोन 18513-18471 और दूसरा बड़ा बेस जोन 18442-1841 है। FIIs की ओर से तेज बिकवाली हुई है

रेंद्र कुमार ने कहा कि बैंक निफ्टी का पहला रजिस्टेंस जोन 43261-43360 और दूसरा बड़ा रजिस्टेंस जोन 43533-43770/840 है ।

Strategy For Nifty or Bank Nifty-ग्लोबल बाजारों से सुस्त संकेत मिल रहे है। एशिया में नरमी देखने को मिल रही है। डाओ फ्यूचर्स फिसला है। SGX निफ्टी फ्लैट कारोबार कर रहे है। अमेरिकी मार्केट में कल चौथे दिन भी नरमी रही थी। इस बीच भारतीय बाजार की भी सुस्त शुरुआत हो सकती है। बता दें कि 7 दिसंबर को लगातार दूसरे दिन बाजार में बिकवाली का दबाव बढ़ता दिखा। दिसंबर की पॉलिसी मीटिंग (December policy meeting) में आरबीआई (Reserve Bank of India) के हल्के सतर्क (हॉकिस) नजरिए ने बाजार सेंटीमेंट पर अपना असर दिखाया। आरबीआई ने रेपो रेट में 35 बेसिस प्वांइट की बढ़त करके इसे 6.25 फीसदी कर दिया है। इसके अलावा आरबीआई (RBI)ने इस पूरे साल के ग्रोथ अनुमान में भी कटौती कर दी है। Sensex कल 216 अंक गिरकर 62411 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 82 अंकों की गिरावट के साथ 18560 के स्तर पर बंद हुआ। आइए डालते है एक नजर की बैंक निफ्टी और निफ्टी में कमाई के लिए क्या स्ट्रैटजी क्या है मार्केट सेंटीमेंट होनी चाहिए।

निफ्टी पर रणनीति

निफ्टी में आज कैसे होगी कमाई। इस पर बात करते हुए सीएनबीसी-आवाज़ के वीरेंद्र कुमार ने कहा कि निफ्टी का पहला रजिस्टेंस जोन 18610-18657 और दूसरा बड़ा रजिस्टेंस जोन 18705-18745 है। इसका पहला बेस जोन 18513-18471 और दूसरा बड़ा बेस जोन 18442-1841 है। FIIs की ओर से तेज बिकवाली हुई है। DIIs की ओर से ज्यादा खरीदारी नहीं। 18600-700-800-900 पर कॉल राइटर्स हावी है जबकि 18500-400 पुट पर राइटर्स हावी है । 18500 के स्तर पर PCR 4.43 है जबकि 20 DEMA का स्तर 18413 है। गुजरात, हिमाचल के चुनाव के नतीजों से दिशा तय होगी लेकिन दूसरे बेस के ऊपर रहने तक बिकवाली नहीं है। दोनों बेस पर नजर रखें, मजबूत पुलबैक संभव है। चुनाव के नतीजों और BJP की सीटों की संख्या अहम है। 18413-400 के नीचे फिसले तो स्ट्रक्चर खराब होगा।

बढ़ती महंगाई बिगाड़ेगी बाजार का सेंटीमेंट! एक्‍सपर्ट से समझें- कैसे तैयार करें दमदार पोर्टफोलियो, किस सेक्‍टर्स में बनेगा पैसा

How to make an inflation-proof portfolio: एक्‍सपर्ट का कहना है कि बढ़ती महंगाई के दौर में निवेशकों को ऐसा पोर्टफोलियो तैयार करना चाहिए, जोकि महंगाई से बचाव करने वाला हो. यहां निवेशक यह जान लें कि महंगाई निश्चित तौर पर बाजार के सेंटीमेंट पर असर डाल सकती है.

How to make an inflation-proof portfolio: देश में खुदरा महंगाई दर (Retail Inflation) मार्च 2022 में 17 महीने के टॉप 6.95 फीसदी पर पहुंच गई. फूड आइटम्‍स के साथ-साथ कमोडिटी कीमतों पर बढ़ते दबाव के चलते महंगाई में उछाल आ रहा है. बढ़ती महंगाई का सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ रहा है. ऐसे में यह सवाल भी अहम है कि क्‍या महंगाई शेयर बाजार के सेंटीमेंट को बिगाड़ सकती है और अगर आप बाजार से अच्‍छा मुनाफा चाहते हैं, तो मौजूदा समय में अपना पोर्टफोलियो कैसे बनाएंं? एक्‍सपर्ट का कहना है कि बढ़ती महंगाई के दौर में निवेशकों को ऐसा पोर्टफोलियो तैयार करना चाहिए, जोकि महंगाई से प्रोटेक्‍ट करने वाला हो. यहां निवेशक यह क्या है मार्केट सेंटीमेंट जान लें कि बढ़ती महंगाई निश्चित तौर पर बाजार के सेंटीमेंट पर असर डाल सकती है.

स्‍वास्तिका इन्‍वेस्‍टमार्ट लिमिटेड के रिसर्च हेड संतोष मीणा का कहना है कि बढ़ती महंगाई एक बड़ी चिंता का विषय है. हालांकि, अधिकांश चीजों को बाजार पहले से डिस्‍काउंट कर चुका है. ऐसे में महंगाई में नरमी आने के किसी भी संकेत से बाजार में एक रिलीफ रैली देखने को मिल सकती है. उनका कहना है कि मौजूदा तिमाही और अगली तिमाही में रॉ मैटीरियल की ऊंची कीमतों का असर रहेगा. इसमें अब कंपनियों के मैनेजमेंट का क्‍या रुख रहता है, यह काफी अहम होगा.

महंगाई को मात देगा पोर्टफोलियो!

संतोष मीणा का कहना है कि बढ़ती महंगाई के समय में निवेशकों के सामने सबसे बड़ा चैलेंज अपने निवेश पोर्टफोलियो को इस तरह बनाना, जो महंगाई दर को मात देकर बेहतर रिटर्न दे सके. उनका कहना है, निवेशकों को कमोडिटी कंज्‍यूमर्स की बजाय कमोडिटी प्रोड्यूसर्स स्‍टॉक्‍स में खरीदारी करनी चाहिए. हालांकि, कमोडिटी प्रोड्यूसर्स कंपनियों की कीमतों पहले ही बढ़ चुकी है. इसलिए लो मार्जिन सेफ्टी है.

उनका कहना है कि निवेशकों को ऐसे सेक्‍टर्स पर फोकस करना चाहिए जो कमोडिटी कीमतों को लेकर कम सेंसेटिव हैं. जैसेकि बैंकिंग एंड फाइनेंशियल्‍स, टेलिकॉम और आईटी स्‍टॉक्‍स पर फोकस कर सकते हैं. इसके साथ ही निवेशकों को ऐसे हाई-क्‍वालिटी स्‍टॉक्‍स पर भी देखना चाहिए, जो महंगाई के चलते अस्‍थायी रूप से दबाव में हैं.

मार्च 2022 में रिटेल महंगाई दर 6.95 फीसदी रही, जो कि 6.3 फीसदी के अनुमान से ज्‍यादा है. अगले दो महीनों तक भी कीमतों में बढ़ोतरी दिखाई दे सकती है. हालांकि, यहां से मार्केट की नजर कमोडिटी कीमतों के ट्रेंड पर रहेगी.

Zee Business Hindi Live TV यहां देखें

खाने-पीने की महंगाई में तगड़ा उछाल

रिटेल महंगाई दर (CPI) मार्च में बढ़कर 6.95 फीसदी हो गई. फरवरी में यह 6.1 फीसदी थी. खुदरा महंगाई बढ़ने की मुख्‍य वजह फूड आइटम्स की कीमतों में उछाल रहा. फूड इंफ्लेशन मार्च में 7.68 फीसदी था, जो कि फरवरी में 5.85 फीसदी रहा. यह लगातार तीसरा महीना है, जब रिटेल इंफ्लेशन भारतीय रिजर्व बैंक के कंफर्ट जोन से ऊपर रहा है. रिजर्व बैंक ने FY23 के लिए महंगाई दर अनुमान 4.5% से बढ़ाकर 5.7% किया है.

(डिस्‍क्‍लेमर: यहां निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस द्वारा दी गई है. ये जी बिजनेस के विचार नहीं हैं. निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें.)

Stock Market : सेंसेक्‍स आज फिर 60 हजार के पार जाएगा, बाजार में लगातार दूसरे दिन बढ़त की उम्‍मीद

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 659 अंकों की तेजी के साथ बंद हुआ था.

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 659 अंकों की तेजी के साथ बंद हुआ था.

भारतीय शेयर बाजार पिछले महीने के कुछ झटकों से अब पूरी तरह उबरता दिख रहा है और एक्‍सपर्ट का मानना है कि इस बार बाजार नई . अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated : September 09, 2022, 07:22 IST

हाइलाइट्स

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 659 अंकों की जबरदस्‍त तेजी के साथ 59,688 पर बंद हुआ था.
एक्‍सपर्ट का कहना है कि आज के कारोबार में भी सेंसेक्‍स और निफ्टी बढ़त बनाएंगे.
पिछले सत्र में भी विदेशी निवेशकों ने 2,913.09 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीद की.

नई दिल्‍ली. भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) आज लगातार दूसरे सत्र में बढ़त बनाने के मूड में दिख रहा है. ग्‍लोबल मार्केट से मिल रहे पॉजिटिव संकेतों से आज घरेलू निवेशकों ने खरीदारी शुरू की तो सेंसेक्‍स एक बार फिर 60 हजार के आंकड़े को पार कर जाएगा.

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 659 अंकों की जबरदस्‍त तेजी के साथ 59,688 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 174 अंक चढ़कर 17,799 पर पहुंच गया था. एक्‍सपर्ट का कहना है क्या है मार्केट सेंटीमेंट कि आज के कारोबार में भी सेंसेक्‍स और निफ्टी बढ़त बनाएंगे. ग्‍लोबल मार्केट में आई तेजी का भारतीय निवेशकों के सेंटिमेंट पर पॉजिटिव असर पड़ेगा. अगर पिछली खरीदारी को बरकरार रखा तो आज भी बाजार में बड़ी बढ़त दिख सकती है.

अमेरिका और यूरोपीय बाजारों का हाल

अमेरिका के शेयर बाजारों में अब धीरे-धीरे रौनक वापस लौट रही है. ब्‍याज दरों में बढ़ोतरी के ऐलान से निवेशक काफी समय तक दूरी बनाए हुए थे और लगातार बिकवाली कर रहे थे. फिलहाल मंदी का जोखिम भी कम होता दिख रहा है, जिससे निवेशकों भरोसा भी वापस लौट रहा है. यही वजह है कि पिछले कारोबारी सत्र में भी अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल NASDAQ पर 0.60 फीसदी की बढ़त दिख रही है.

अमेरिका की तर्ज पर यूरोप के भी ज्‍यादातर शेयर बाजारों में पिछले सत्र के दौरान बढ़त दिखी है. यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल जर्मनी का स्‍टॉक एक्‍सचेंज पिछले सत्र में 0.09 फीसदी गिरकर बंद हुआ, लेकिन फ्रांस के शेयर बाजार में 0.33 की बढ़त रही. इसके अलावा लंदन का स्‍टॉक एक्‍सचेंज भी 0.33 फीसदी के उछाल पर बंद हुआ.

ब्रेकिंग क्या है मार्केट सेंटीमेंट न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Share Market Today: शेयर बाजार में गिरावट के बावजूद फार्मा शेयरों में आई तेजी, जानें- क्या है कारण?

Share Market Today: शेयर बाजार में गिरावट के बावजूद फार्मा शेयरों में तेजी दर्ज की गई है. फार्मा प्रमुख मोरपेन लैब्स का शेयर मूल्य 12.50 प्रतिशत तक बढ़ गया है, शिल्पा मेडिकेयर का शेयर 10 प्रतिशत के करीब बढ़ा है, आईओएल केमिकल्स और फार्मास्युटिकल्स के शेयर लगभग 6 प्रतिशत चढ़े हैं.

Published: December 23, 2022 2:47 PM IST

Share Market down on weak global cues and increasing covid-19 cases in China.

Stock Market Today: दलाल स्ट्रीट (Dalal Street) में आज सेंटीमेंट काफी कमजोर नजर आ रहे हैं. इसके बावजूद भी फार्मा प्रमुख मोरपेन लैब्स का शेयर मूल्य 12.50 प्रतिशत तक बढ़ गया है, शिल्पा मेडिकेयर का शेयर 10 प्रतिशत के करीब बढ़ा है, आईओएल केमिकल्स और फार्मास्युटिकल्स के शेयर लगभग 6 प्रतिशत चढ़े हैं जबकि सुवेन फार्मास्युटिकल स्टॉक 3 प्रतिशत से अधिक हैं. फार्मा सेगमेंट के इन प्रमुख गेनर के अलावा, आरती ड्रग्स, कैप्लिन पॉइंट लैब, ग्रैन्यूल्स इंडिया और डिविज़ लैब के शेयरों में भी 1 फीसदी से ज्यादा की तेजी दर्ज की गई है.

Also Read:

शेयर बाजार के जानकारों के मुताबिक, दुनिया में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के डर से फार्मा शेयरों में तेजी देखी जा रही है. उनका कहना है कि फार्मा शेयरों में मौजूदा तेजी फार्मा कंपनियों के लिए सट्टेबाजी, उच्च राजस्व और व्यापार पर आधारित है. इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि निकट भविष्य में कोविड के मामले बढ़ते रहते हैं. निफ्टी फार्मा का शेयर पिछले एक सप्ताह क्या है मार्केट सेंटीमेंट में करीब 2.5 फीसदी चढ़ा है और यह ऊपर की ओर बढ़ना जारी रख सकता है. विशेषज्ञों ने का मानना है कि सन फार्मा, सिप्ला और ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल शेयर आशाजनक दिख रहे हैं.

आज शेयर बाजार में आज बीएसई सेंसेक्स करीब 850 अंकों की गिरावट के साथ 60,000 के स्तर से नीचे चला गया है. निफ्टी 50 इंडेक्स 275 अंक गिर गया है और वर्तमान में लगभग 17,850 के आसपास है, जबकि बैंक निफ्टी इंडेक्स 600 अंक से अधिक टूट गया है और 41,800 के स्तर को पार कर गया है.

सेंसेक्स की कंपनियो में टाटा मोटर्स, टाटा स्टील, एसबीआई, इन्फोसिस, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, बजाज फाइनेंस और पावर ग्रिड नुकसान में थे.

वहीं सन फार्मा, रिलायंस इंडस्ट्रीज, नेस्ले और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के शेयर लाभ में थे.

डॉलर के मुकाबले रुपया स्थिर

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया शुरुआती कारोबार में दो पैसे के नुकसान के साथ 82.81 प्रति डॉलर पर खुला. पिछले कारोबारी दिवस में रुपया 82.79 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था.

सुबह के कारोबार में 82.82 से 82.77 प्रति डॉलर के दायरे में घूमने के बाद रुपया 82.79 प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा था.

दुनिया की छह मुद्राओं की तुलना में अमेरिकी मुद्रा की मजबूती को आंकने वाला डॉलर सूचकांक 0.10 प्रतिशत टूटकर 104.33 पर आ गया.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Bajaj Finance, Axis Bank, TCS के शेयर लुढ़के, प्रेशर में IT-Banking स्टॉक, 0.50% गिरा बाजार

इससे पहले बाजार पिछले चार दिन से प्रेशर में था. मंगलवार और बुधवार को तो बाजार काफी वोलेटाइल बना रहा था. बुधवार को सेंसेक्स 54.13 अंक (0.09 फीसदी) मजबूत होकर 59,085.43 अंक पर बंद हुआ था. वहीं निफ्टी 27.45 अंक (0.16 फीसदी) की बढ़त के साथ 17,604.95 अंक पर रहा था. मंगलवार को सेंसेक्स 257.43 अंक यानी 0.44 फीसदी मजबूत होकर 59,031.30 अंक पर रहा था.

बाजार में आई गिरावट

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 25 अगस्त 2022,
  • (अपडेटेड 25 अगस्त 2022, 3:51 PM IST)

Stock Market Today: पिछले सप्ताह के अंत से बाजार पर बना प्रेशर लगातार बना हुआ है. ग्लोबल मार्केट में लगातार तीन दिनों की गिरावट के बाद आई तेजी से घरेलू बाजार को शुरुआती कारोबार में सपोर्ट मिला. इसके चलते गुरुवार को बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) और एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) ने कारोबार की अच्छी शुरुआत की. हालांकि बाद के कारोबार में ज्यादातर बड़ी कंपनियों के शेयर टूटने से बाजार भी बिखर गया और 0.50 फीसदी से ज्यादा गिरकर बंद हुआ.

प्री-ओपन सेशन में मजबूत था बाजार

घरेलू बाजार प्री-ओपन सेशन (Pre-Open Session) में मजबूत बना हुआ था. प्री-ओपन सेशन में सेंसेक्स 215 अंक से ज्यादा मजबूत होकर 59,300 अंक के पार कारोबार कर रहा था. एनएसई निफ्टी करीब 75 अंक के फायदे के साथ 17,680 अंक के पास आ कारोबार कर रहा था. वहीं, सिंगापुर में एसजीएक्स निफ्टी (SGX Nifty) का फ्यूचर कांट्रैक्ट सुबह के नौ बजे 79.5 अंक चढ़कर 17,695 अंक पर कारोबार कर रहा था. इससे संकेत मिल रहा था कि घरेलू बाजार आज कारोबार की शुरुआत तेजी के साथ कर सकता है. सुबह के 09:20 बजे सेंसेक्स करीब 250 अंक के फायदे के साथ 59,335 अंक के पार कारोबार कर रहा था था. वहीं निफ्टी लगभग 61 अंक चढ़कर 17,665 अंक के पास कारोबार कर रहा था.

सम्बंधित ख़बरें

इन 5 पेनी स्टॉक्स ने दी शेयर बाजार को मात, बंपर रिटर्न से बने मल्टीबैगर
अडानी की इस कंपनी ने गिरते बाजार में दिखाया 'Power', रिकॉर्ड हाई पर शेयर
इस स्टॉक ने साल भर में डबल किया पैसा, Damani ने भी किया है निवेश
इन 5 पेनी स्टॉक्स ने दी शेयर बाजार को मात, बंपर रिटर्न से बने मल्टीबैगर
क्यों बेचनी पड़ रही है Bisleri? कंपनी मालिक ने बताई वजह. बेटी का जिक्र!

सम्बंधित ख़बरें

बड़े शेयरों में आई बिकवाली

दोपहर के बाद बाजार में तेजी से बिकवाली आई. सेंसेक्स की कंपनियों को देखें तो मारुति सुजुकी, एसबीआई, डॉ रेड्डीज और टाइटन को छोड़ बाकी की सभी 26 कंपनियों के शेयर आज नुकसान में रहे. बजाज फाइनेंस को सबसे ज्यादा 1.81 फीसदी का नुकसान हुआ. इंफोसिस, टीसीएस, इंडसइंड बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर भी 1-1 फीसदी से ज्यादा गिरकर बंद हुए. कारोबार समाप्त होने के बाद सेंसेक्स 310.71 अंक (0.53 फीसदी) के नुकसान के साथ 58,774.72 अंक पर बंद हुआ. निफ्टी 82.50 अंक (0.47 फीसदी) के घाटे के साथ 17,522.45 अंक पर आ गया.

पांच दिनों से बाजार पर प्रेशर

इससे पहले मंगलवार और बुधवार को तो बाजार काफी वोलेटाइल बना रहा था. बुधवार को सेंसेक्स 54.13 अंक (0.09 फीसदी) मजबूत होकर 59,085.43 अंक पर बंद हुआ था. वहीं निफ्टी 27.45 अंक (0.16 फीसदी) की बढ़त के साथ 17,604.95 अंक पर रहा था. मंगलवार को सेंसेक्स 257.43 अंक यानी 0.44 फीसदी मजबूत होकर 59,031.30 अंक पर और निफ्टी 86.80 अंक (0.50 फीसदी) मजबूत होकर 17,577.50 अंक पर रहा था. सप्ताह के पहले दिन सोमवार को सेंसेक्स 872.28 अंक (1.46 फीसदी) की भारी गिरावट के साथ 58,773.87 अंक पर बंद हुआ था. निफ्टी 267.75 अंक (1.51 फीसदी) लुढ़ककर 17,490.70 अंक पर आ गया था. बाजार के ऊपर पिछले सप्ताह के अंतिम दिन शुक्रवार से प्रेशर बना हुआ है. शुक्रवार को सेंसेक्स 651.85 अंक (1.08 फीसदी) के नुकसान के साथ 59,646.15 अंक पर बंद हुआ था. निफ्टी 198.05 अंक (1.10 फीसदी) गिरकर 17,758.45 अंक पर रहा था.

ग्लोबल मार्केट में लौटी तेजी

ग्लोबल मार्केट की बात करें तो अमेरिकी बाजार लगातार तीन दिन गिरने के बाद बुधवार को वापसी करने में सफल रहे. डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज (Dow Jones Indutrial Average) 0.18 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ था. वहीं टेक फोकस्ड इंडेक्स नास्डैक कंपोजिट (Nasdaq Composite) में 0.41 फीसदी की और एसएंडपी 500 में (S&P 500) 0.29 फीसदी की बढ़त देखने को मिली थी. आज मंगलवार के कारोबार में एशियाई बाजार भी मजबूत बने हुए हैं. जापान का निक्की (Nikkei) 0.56 फीसदी के फायदे के साथ कारोबार कर रहा है. वहीं हांगकांग के हैंगसेंग (Hangseng) में चक्रवात के चलते कारोबार की शुरुआत नहीं हो पाई है. चीन का शंघाई कंपोजिट (Shanghai Composite) 0.41 फीसदी की बढ़त में कारोबार कर रहा है.

रेटिंग: 4.24
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 762