Digital Gold क्या है और कैसे खरिदें ऑनलाइन जाने प्रोसेस

यदि आप भारत में किसी से पूछते हैं कि वे किसे सुरक्षित निवेश मानते हैं, तो सबसे अधिक संभावना है कि वे सोने का जवाब देंगे। क्योंकि सोने की कीमत हर दिन बढ़ रही है। ऐसे में डिजिटल गोल्ड से परिचित होना अनिवार्य है। यह लेख समझाएगा कि डिजिटल सोना क्या है और आप इसे कैसे खरीद सकते हैं। सभी सवालों के जवाब देना।

डिजिटल गोल्ड क्या है? Digital Gold Kya Hai

डिजिटल सोना सोने का एक डिजिटल रूप है जिसे भौतिक रूप से खरीदने के बजाय ऑनलाइन खरीदा जा सकता है। खरीदार इस सोने को थर्ड पार्टी प्लेटफॉर्म जैसे वेबसाइट और ऐप के जरिए ऑनलाइन खरीद सकता है। खरीदार को वास्तव में सोना नहीं मिलता है; बल्कि, खरीदी गई राशि उसके खाते में प्रदर्शित होती है। बैंक खाते में जमा की गई राशि देखी जा सकती है।

फिजिकल गोल्ड खरीदने के कई नुकसान हैं। हम बाज़ार से ख़रीदे गए सोने की शुद्धता की जांच नहीं कर सकते और न ही उसे अपने साथ घर ला सकते हैं।

इसे स्टोर करने में भी हमें कई तरह की दिक्कतें आती हैं। घर से भी सोना चोरी हो सकता है। इसे खरीदना मुश्किल है क्योंकि इसमें इतना समय लगता है। डिजिटल सोना एक सुविधाजनक वस्तु है।

डिजिटल सोना खरीदने से पहले उसके बारे में सारी जानकारी ऑनलाइन हासिल की जा सकती है। आप अपनी जरूरत की हर चीज का पता लगा सकते हैं, जैसे विक्रेता, शुद्धता, बिक्री मूल्य, वजन और वापसी नीति।

फिर आप इंटरनेट, मोबाइल बैंकिंग या मोबाइल ऐप का उपयोग करके अपने विवेक से डिजिटल सोना खरीद सकते हैं। डिजिटल सोना 24 घंटे से कम समय में कहीं भी, कभी भी खरीदा जा सकता है।

PhonePe से डिजिटल गोल्ड कैसे खरिदें?

PhonePe मुख्य रूप से फंड ट्रांसफर के लिए एक ऑनलाइन एप्लिकेशन है। इस ऐप से आप दूसरे काम भी कर सकते हैं। यह ऐप आपको डिजिटल सोना ऑनलाइन आसानी से खरीदने की अनुमति देता है। यह ऐप ऑनलाइन पेमेंट के लिए लोकप्रिय है। इसलिए हम इस लेख में इसका उपयोग कर रहे हैं।

PhonePe पर डिजिटल सोना ऑनलाइन खरीदने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें

Step-1 : फोनपे ओपन करें – सबसे पहले फोनपे को ओपन करें। इसे खोलने के लिए बस आइकन पर टैप करें। हो सकता है कि यह ऐप आपके स्मार्टफोन में इंस्टॉल न हो। इसे पाने के लिए Play Store पर जाएं। आप नीचे हमारे ट्यूटोरियल में चरण-दर-चरण विधि पा सकते हैं।

Step-2 : इंवेस्टमेंट पर टैप करें – ऐप लॉन्च होने के बाद, सबसे नीचे “निवेश” विकल्प पर टैप करें। यह ऐप को आपकी आंखों के सामने डिजिटल गोल्ड क्या है विभिन्न निवेश विकल्पों को प्रदर्शित करने की अनुमति देगा।

Step-3 : Gold का चुनाव करें – आप अपने निवेश कोड को प्रदर्शित करने वाली स्क्रीन से सोने पर टैप कर सकते हैं। आप अपनी आंखों के सामने तरह-तरह के सोने के उत्पाद फेल होते देखेंगे। फिर आप वजन, शुद्धता और कीमत के आधार पर उत्पाद चुन सकते हैं।

आप सभी विवरण देखने के लिए किसी भी उत्पाद पर टैप कर सकते हैं। यहां आप उत्पादों के बारे में सारी जानकारी पा सकते हैं। आप सोने की शुद्धता, धनवापसी नीति, कुल वजन, विक्रेता, सुपुर्दगी तिथि आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Step-4 : सोना खरिदें – एक बार जब आप सोने के उत्पाद के बारे में जानकारी पढ़ लेते हैं, तो दाईं ओर बैंगनी बटन पर क्लिक करें। सोना खरीदने के लिए आप इस बटन पर क्लिक कर सकते हैं।

इस चरण को पूरा करने के बाद, आपको कुछ जानकारी प्रदान करनी होगी।

  • पता दर्ज करें: शुरू करने के लिए, वह पता दर्ज करें जहां सोना पहुंचाया जाएगा। यदि आप चाहें तो पूर्व निर्धारित पते से वितरण पता चुन सकते हैं। एक बार जब आप पते की पुष्टि कर लेते हैं, तो अगला क्लिक करें।
  • भुगतान विधि चुनें : इसके बाद, वह विधि चुनें जिसे आप सोने के लिए भुगतान करना चाहते हैं। आप चाहें तो यूपीआई से भी भुगतान कर सकते हैं। PhonePe डिफ़ॉल्ट तरीका है। अब आप यूपीआई पिन दर्ज कर सकते हैं।

एक बार जब आप दोनों काम पूरा कर लेते हैं, तो पैसे देने का समय आ जाता है। कुछ दिनों के भीतर खरीदे गए सोने की डिलीवरी आपके पते पर कर दी जाएगी।

डिजिटल गोल्ड के फायदे क्या है?

डिजिटल गोल्ड खरीदने के लिए आपको ज्यादा बार्गेनिंग करने की जरूरत नहीं है। न ही इसे खरीदने के लिए कहीं जाने की जरूरत है। आपको बस अपना स्मार्टफोन उठाना है, किसी भी एप्लिकेशन को लोड करना है जो डिजिटल सोना खरीदने की सेवा प्रदान करता है, और उस एप्लिकेशन में आपको डिजिटल सोना खरीदने के विकल्प पर जाना है, उसके बाद आपको कीमत देखकर सोना खरीदना है .

कुछ ही मिनटों में आप डिजिटल सोना ऑनलाइन खरीद सकते हैं। यदि आप अपने सोने की ऊंची कीमत चाहते हैं तो आप अपना डिजिटल सोना ऑनलाइन भी बेच सकते हैं और पैसा सीधे अपने बैंक खाते में प्राप्त कर सकते हैं।

यह पारदर्शी है और कोई अपव्यय शुल्क नहीं है। यह पारदर्शी है और इसमें कोई छिपी हुई फीस नहीं है।

अगर आप डिजिटल सोना ऑनलाइन खरीदते हैं तो आपको चिंतित होने की जरूरत नहीं है।

आप सिर्फ एक रुपए से डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं। कई एप्लिकेशन आपको एक रुपये से भी ऐसा करने की अनुमति देते हैं। कुछ एप्लिकेशन आपको 100 रुपये तक का निवेश करने की सुविधा भी देते हैं।

डिजिटल गोल्ड के नुकसान क्या है?

अधिकांश प्लेटफार्मों में अधिकतम निवेश सीमा 2,00,000 है। डिजिटल सोना खरीदने के लिए आप 21,000 पैसे से ज्यादा का निवेश नहीं कर सकते हैं।

डिजिटल सोना आरबीआई और सेबी संगठनों द्वारा कई प्रतिबंधों के अधीन है। कई नियम भी बने हुए हैं।

अगर आप डिजिटल सोना खरीदते हैं तो आपको डिलीवरी शुल्क देना होगा।

कुछ कंपनियां डिजिटल सोने की खरीद के लिए सीमित भंडारण अवधि की पेशकश करती हैं। इसके बाद आपको फिजिकल डिलीवरी लेनी होगी या फिर इसे ऑनलाइन बेचना होगा।

डिजिटल गोल्ड प्राइस टुडे Digital Gold Price Today

डिजिटल गोल्ड प्राइस इन हिंदी, डिजिटल सोने की कीमत आज, डिजिटल गोल्ड रेट इन इंडिया टुडे, भारत में डिजिटल सोने के दाम : Digital Gold Price Today in Hindi – प्रति ग्राम डिजिटल सोने की दर, चार्ट और भारत के लिए वर्तमान डिजिटल सोने की कीमतें प्राप्त करें। पिछले 30 दिनों में भारतीय डिजिटल सोने की कीमतों से अपडेट रहें। MMTC-PAMP और SafeGold कुछ ऐसी कंपनियाँ हैं जो भारत में डिजिटल गोल्ड की पेशकश करती हैं। ऑगमोंट एक और है। फोनपे, एचडीएफसी बैंक और पेटीएम जैसे विश्वसनीय प्लेटफॉर्म आपको डिजिटल सोना खरीदने की सुविधा देते हैं।

सोना खरीदने पर मिलेगा 500 का डिस्काउंट और सालाना ब्याज, जानिये डिजिटल गोल्ड के फायदे

Digital Gold Benefits: डिजिटल गोल्ड में आपको फिजितल गोल्ड के मुकाबले कई तरह की सहूलियतें भी मिलती हैं. ऐसे में अगर आप चाहें तो इस फेस्टिव सीजन में डीजिटल गोल्ड की खरीददारी कर सकते हैं.

  • सोना खरीदने पर मिलेगा 500 का डिस्काउंट
  • जानिये क्या हैं डिजिटल गोल्ड के फायदे

ट्रेंडिंग तस्वीरें

सोना खरीदने पर मिलेगा 500 का डिस्काउंट और सालाना ब्याज, जानिये डिजिटल गोल्ड के फायदे

नई दिल्ली: त्योहारी सीजन शुरू होने को है. ऐसे में सोने की डिमांड में तेजी देखने को मिल सकती है. अगर आप भी त्योहारों के समय सोना डिजिटल गोल्ड क्या है खरीदने का मन बना रहे हैं तो डिजिटल गोल्ड में निवेश करना आपके लिए एक अच्छा और बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है. डिजिटल गोल्ड में आपको फिजितल गोल्ड के मुकाबले कई तरह की सहूलियतें भी मिलती हैं. ऐसे में अगर आप चाहें तो इस फेस्टिव सीजन में डीजिटल गोल्ड की खरीददारी कर सकते हैं. आइये जानते डिजिटल गोल्ड के फायदों के बारे में.

मिलता है ब्याज और डिस्काउंट

अगर आप डिजिटल सोने या गोल्ड बॉन्ड में निवेश करते हैं तो आपको डिस्काउंट के साथ साथ ब्याज का फायदा भी मिलता है. डिजिटल गोल्ड में आपको अधिकतम 500 रुपये का डिस्काउंट मिल सकता है. दरअसल इसमें ऑनलाइन पेमेंट करने पर प्रति ग्राम पर 50 रुपये का डिस्काउंट मिलता है. यानी इस हिसाब से 10 ग्राम की खरीददारी पर आप 500 रुपये का डिस्काउंट हासिल कर सकते हैं. इसके अलावा गोल्ड बॉन्ड योजना में आपको सालाना आधार पर 2.5 फीसदी के ब्याज का फायदा भी मिलता है.

स्टोरेज और क्वालिटी

सोना खरीदने के बाद हमारे सामने जो एक बड़ी समस्या आती हो वह इसे रखने की. कई सारे लोग अपने गहने या सोने को बैंक के लॉकरों में जमा कराते हैं इसके लिए उनको चार्ज भी देना होता है. लेकिन डिजिटल गोल्ड में आपकी यह समस्या भी हल हो जाती है. डिजिटल गोल्ड में हमें स्टोरेज की चिंता नहीं करनी होती. इसके अलावा इसमें हमें सोने की क्वालिटी को लेकर भी चिंता करने की कोई जरूरत नहीं होती है. डिजिटल गोल्ड में जो सोना खरीदा जाता है वह 24 कैरेट सोने की शुद्धता के साथ लिंक किया जाता है.

1 ग्राम सोना खरीदने की सुविधा

डिजिटल गोल्ड या गोल्ड बॉन्ड योजना में आप कम से कम 1 ग्राम सोना भी खरीद सकते हैं. साथ ही एक अकेले व्यक्ति के तौर पर इसके जरिए हमें ज्यादा से ज्यादा 4 किलो ग्राम तक सोना खरदीने का विकल्प मिलता है. गोल्ड बॉन्ड स्कीम में ग्राहकों को बाजार से सस्ते दाम में सोना खरीदने का मौका मिलता है.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

आप अपने Digital Gold को लीज पर देकर कर सकते हैं कमाई, जानिए स्कीम के बारे में

इस सुविधा के लिए आपको सेफगोल्ड के डिजिटल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करना होगा। इसमें आप अपना डिजिटल गोल्ड छोटे ज्वेलर्स को लीज पर देंगे। यह लीज तय अवधि के लिए होगी। इस दौरान आपको अपने डिजिटल गोल्ड पर रेंट मिलेगा, जो यील्ड के रूप में होगा

कोई व्यक्ति इस सुविधा के तहत न्यूनतम 0.5 ग्राम से लेकर अधिकतम 20 ग्राम तक डिजिटल गोल्ड लीज पर दे सकता है।

आप अपने डिजिटल गोल्ड (Digital Gold) पर रिटर्न कमा सकते हैं। ऑनलाइन डिजिटल गोल्ड प्लेटफॉर्म SafeGold ने यह सुविधा शुरू की है। इसमें कोई व्यक्ति अपने डिजिटल गोल्ड को लीज पर देकर रिटर्न कमा सकता है। चूंकि यह नई तरह की सेवा है, इसलिए लोगों के मन ने इसे लेकर कई तरह के सवाल उठ सकते हैं। आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

आपको ज्वेलर का नाम और लीज का पीरियड तय करना होगा

इस सुविधा के लिए डिजिटल गोल्ड क्या है आपको सेफगोल्ड के डिजिटल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करना होगा। इसमें आप अपना डिजिटल गोल्ड छोटे ज्वेलर्स को लीज पर देंगे। यह लीज तय अवधि के लिए होगी। इस दौरान आपको अपने डिजिटल गोल्ड क्या है डिजिटल गोल्ड पर रेंट मिलेगा, जो यील्ड के रूप में होगा। आपको खुद ज्वेलर्स का नाम और लीज की अवधि सेलेक्ट करनी होगी।सेफगोल्ड की वेबसाइट पर मौजूद ज्वेलर्स को वेरिफाई किया गया है। उनका केवाईसी भी किया गया है।

संबंधित खबरें

SBI ग्राहकों के लिए खुशखबरी! होम लोन के ब्याज की बढ़ोतरी से फेस्टिव ऑफर करेगा मदद, जानें कैसे उठाएं फायदा

Business Idea: इस मौसम में सिर्फ 35,000 रुपये में शुरू करें यह बिजनेस, लाखों रुपये की होगी कमाई

Airtel का तगड़ा प्लान! सिर्फ 9 रुपये में जितनी मर्जी पूरे साल करें बात, रोजाना डिजिटल गोल्ड क्या है 2.5GB डेटा और OTT सब्स्क्रिप्शन

अधिकतम 20 ग्राम डिजिटल गोल्ड लीज पर दी जा सकती है

ज्वेलर लीज की अवधि के आधार पर आपको यील्ड ऑफर करेगा। कोई व्यक्ति इस सुविधा डिजिटल गोल्ड क्या है के तहत न्यूनतम 0.5 ग्राम से लेकर अधिकतम 20 ग्राम तक डिजिटल गोल्ड लीज पर दे सकता है। लीज की अवधि 30 दिन से लेकर 364 दिन तक हो डिजिटल गोल्ड क्या है सकती है। आप सालाना 3 से 6 फीसदी यील्ड की उम्मीद कर सकते हैं। यील्ड का कैलकुलेशन रोजाना के हिसाब से होगा। फिर इसे हर महीने आपके डिजिटल गोल्ड अकाउंट में डाल दिया जाएगा।

गोल्ड के रूप में मिलेगा रेंट

आपके लिए यह ध्यान रखना जरूरी है कि यह यील्ड आपको गोल्ड के रूप में मिलेगी। लीज का पीरियड खत्म होने पर डिजिटल डिजिटल गोल्ड क्या है गोल्ड आपको वापस कर दिया जाएगा। आपको मिलने वाली यील्ड गोल्ड में होगी। इसे एक उदाहरण की मदद से आसानी से समझा जा सकता है। मान लीजिए आप 10 ग्राम डिजिटल गोल्ड क्या है डिजिटल गोल्ड तीन महीने के लिए सालाना 3 फीसदी यील्ड पर किसी ज्वेलर को लीज पर देते हैं। इस पर आपको तीन महीने के रेंट के रूप में 75 मिलीग्राम गोल्ड मिलेगा।

स्कीम से जुड़े रिस्क क्या है?

चूंकि यह स्कीम नई है, इसलिए इसके साथ कुछ रिस्क जुड़े हैं। डिजिटल गोल्ड लीजिंग एक अनरेगुलेटेड प्रोडक्ट है। इसका मतलब है कि किसी तरह के फ्रॉड की स्थिति में आप सेबी (SEBI) या RBI जैसे रेगुलेटर के पास शिकायत नहीं कर सकते हैं। दूसरा मसला लिक्विडिटी का है। लीज पीरियड के दौरान आप अपने डिजिटल गोल्ड को बेच नहीं सकते। एक्सपायरी से पहले लीज को कैंसिल भी नहीं किया जा सकता। हालांकि, ज्वेलर चाहे तो वह लीज को कैंसिल कर सकता है।

अगर ज्वेवर लीज पीरियड खत्म होने के बाद गोल्ड आपको लौटाने से इनकार कर देता है तो आपको बड़ा लॉस हो सकता है। इस बारे में सेफगोल्ड का कहना है कि उसने ग्राहकों के हितों की सुरक्षा के इंतजाम किए हैं। कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर मौजूद ज्वेलर से बैंक गारंटी ली है। बैंक गारंटी की वैल्यू लीज पर लिए जाने वाले गोल्ड डिजिटल गोल्ड क्या है की वैल्यू से ज्यादा है। लेकिन, सेफगोल्ड अपनी तरफ से ग्राहक को किसी तरह की गारंटी नहीं देती है।

डिजिटल गोल्ड क्या हैं : डिजिटल गोल्ड के फायदे और नुकसान

डिजिटल गोल्ड क्या हैं (What is Digital Gold in Hindi)
जिस प्रकार हम शेयर को ऑनलाइन खरीद और बेच सकते है उसी तरह गोल्ड को भी हम ऑनलाइन खरीद और बेच सकते है |लोग वर्षों से गोल्ड में निवेश कर रहे हैं और आज भी गोल्ड इन्वेस्टमेंट इतना ही लोकप्रिय हैं। वर्तमान मार्केट में निवेश के कई विकल्प आ जाने के बाद भी गोल्ड इन्वेस्टमेंट की उपस्थिति बनी हुई हैं।
डिजिटल सोना ऑनलाइन खरीदा जा सकता है और ग्राहक की ओर से विक्रेता द्वारा इंश्योर्ड वाल्ट्स में संग्रहीत किया जाता है। आपको बस इंटरनेट, मोबाइल बैंकिंग की जरूरत है और आप कहीं भी, कभी भी, डिजिटल रूप से सोने में निवेश कर सकते हैं। आप कई मोबाइल ई-वॉलेट जैसे पेटीएम, गूगल पे और फोनपे से डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं।पिछले कुछ समय से डिजिटल क्रांति काफी ज्यादा विस्तारित हुई हैं जिसका असर गोल्ड निवेश पर भी हुआ हैं। अब गोल्ड फिजिकल के साथ-साथ डिजिटल रूप में भी मिलने लगा हैं।(डिजिटल गोल्ड क्या हैं)

इस प्रकार डिजिटल गोल्ड को ख़रीदना एक ऐसा वर्चुअल तरीका हैं जिससे आप बिना किसी फिजिकल डिलीवरी के सोना खरीदकर उसमें निवेश कर सकते हैं। इसमें वास्तविक स्वामित्व आपके पास ही रहता हैं परन्तु जितना सोना आपने ख़रीदा हैं उतना सोना सर्विस प्रोवाइडर आपके लिए वॉल्ट में सुरक्षित रख देता हैं।

डिजिटल गोल्ड की विशेषताएं:-

  • आप 1 रुपए के न्यूनतम निवेश तक सोना खरीद सकते हैं। अधिकतम राशि एक वितरक से दूसरे में अलग होती है।
  • 24-कैरट शुद्धता के सोने की पेशकश की जाती है। सेफगोल्ड(SafeGold) 99.5 प्रतिशत शुद्धता प्रदान करता है, जबकि एमएमटीसी–पीएएमपी 99.9 प्रतिशत शुद्धता प्रदान करता है।
  • भौतिक सोने को छुड़ाए जाने डिजिटल गोल्ड क्या है तक सुरक्षित रूप से तक विक्रेता द्वारा संग्रहीत किया जाता है। सेफगोल्ड(SafeGold) द्वारा दो साल तक कोई शुल्क नहीं लगाया जाता है, जबकि एमएमटीसी–पीएएमपी पांच साल तक वॉल्ट का शुल्क नहीं लेता है।
  • आप भौतिक सोने की डिलीवरी ले सकते हैं या इसे लागू मूल्य पर विक्रेता को वापस बेचकर इसे रिडीम कर सकते हैं।
  • आप गहने खरीदकर अनुमोदित जौहरी से सोने को रिडीम कर सकते हैं।
  • वाल्टों में संग्रहीत सोने का नुकसान के खिलाफ बीमा किया जाता है।

डिजिटल गोल्ड के फायदे और नुकसान:-
जैसे हर चीज के फायदे और नुकसान होते है उसी तरह डिजिटल गोल्ड के भी कुछ फायदे और नुकसान है , जो की इस प्रकार है –

डिजिटल गोल्ड में निवेश करने के फायदे:-

  • डिजिटल गोल्ड में ग्राहक अपने बजट के अनुसार निवेश कर सकते हैं, ग्राहक मात्र 1 रूपये से भी डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं.
  • डिजिटल गोल्ड को फिजिकल गोल्ड में Redeem किया जा सकता है.
  • ग्राहक ई-वॉलेट कंपनियों जैसे PhonePe, Google Pay इत्यादि पर आसानी से डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं.
  • फिजिकल गोल्ड की अपेक्षा डिजिटल गोल्ड अधिक सुरक्षित रहता है.
  • आप डिजिटल गोल्ड को बेच सकते हैं या फिर ट्रान्सफर भी कर सकते हैं.

डिजिटल गोल्ड के नुकसान:-

  • डिजिटल गोल्ड के ट्रांजैक्शंस की देखरेख के लिए कोई नियामक नहीं हैं। जो इसे थोड़ा रिस्की बनाता हैं। जबकि ईटीएफ गोल्ड के लिए सेबी और सॉवेरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए आरबीआई नियामक हैं।
  • कोई रेगुलेटर नहीं होने की वजह से NSE ने अपने मेंबर्स पर डिजिटल गोल्ड को बेचने पर प्रतिबंध लगा दिए हैं जिससे Upstox, groww जैसे प्लेटफॉर्म अब डिजिटल गोल्ड की सेवाएं नहीं दे पाएंगे।
  • जब भी आप अपने डिजिटल गोल्ड की डिलीवरी लेना चाहते हैं तो आपको 3% GST देना होता हैं जो इसकी लागत बढ़ जाती हैं।
  • होल्डिंग चार्जेज – कुछ डिजिटल पार्टनर्स आपसे गोल्ड को vault में होल्ड करने के चार्ज भी वसूल करते हैं।
    डिलीवरी और मेकिंग चार्जेस – अगर आप अपने डिजिटल गोल्ड की डिलीवरी लेना चाहते हैं तो आपको मेकिंग चार्जेज और डिलीवरी चार्ज देने होते हैं। ये डिजिटल गोल्ड का एक बहुत बड़ा नुकसान हैं।
  • होल्ड करने की निर्धारित सीमा – डिजिटल गोल्ड में निवेश करने का एक अन्य बड़ा नुकसान हैं कि निवेशक इसे indefinite पीरियड के लिए होल्ड नहीं कर सकते। अधिकांश डिजिटल गोल्ड सर्विस प्रोवाइडर्स गोल्ड को डिजिटल रूप में होल्ड करने की एक निश्चित अवधि रखते हैं। इस अवधि के बाद या तो अपने डिजिटल गोल्ड को बेचना होगा या उसकी फिजिकल डिलीवरी होगी।

डिजिटल गोल्ड कैसे खरीदें?
यदि आप सोच रहे हैं कि अपने बैंक या ब्रोकर के माध्यम से ऑनलाइन सोने में निवेश कैसे करें, तो ऑनलाइन गोल्ड खरीदने के तीन तरीके गोल्ड ईटीएफ, सोवर्जियन गोल्ड बॉन्ड और डिजिटल गोल्ड के माध्यम से हैं। अधिकांश ब्रोकर एमएमटीसी–पीएएमपी के सहयोग से डिजिटल सोना बेचते हैं। यह भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र इकाई एमएमटीसी और भूमि आधारित पीएएमपी एसए के बीच एक संयुक्त उद्यम है।

भारत में डिजिटल डिजिटल गोल्ड क्या है गोल्ड की लेनदेन करने वाली मुख्य कंपनियां:-

  • MMTC-PAMP,
  • Augmont Goldtech
  • SafeGold

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको Digital Gold Kya Hai और डिजिटल गोल्ड में निवेश करने की पूरी जानकारी सरल भाषा में बतायीं है, और उम्मीद करता हु इस आर्टिकल को पढने के बाद समझ गए होंगें कि आपको डिजिटल गोल्ड में निवेश करना चाहिए या नहीं. अगर अभी भी आपके मन में डिजिटल गोल्ड से सम्बंधित कोई प्रश्न हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं, हम आपके सवालों का जवाब देने की कोशिस करेंगें. अगर इस लेख से आपको कुछ सीखने को मिला है तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और उन्हें भी डिजिटल गोल्ड के बारे में बतायें|

रेटिंग: 4.65
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 328