Neha translates BabyCenter India's English content into Hindi to make it available to नकारात्मक संतुलन के खिलाफ सुरक्षा क्या है? a wider audience.

फॉंटम 2 जीएम इंजेक्शन (Fortum 2gm Injection)

फॉंटम 2 जीएम इंजेक्शन (Fortum 2gm Injection)एक सेफलोस्पोरिन एंटीबायोटिक, संयुक्त संक्रमण, मेनिन्जाइटिस, मूत्र पथ के संक्रमण, निमोनिया, सेप्सिस और घातक ओटिटिस एक्स्टर्ना का इलाज करने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह एक अर्द्ध-सिंथेटिक, व्यापक-स्पेक्ट्रम एंटीबायोटिक के रूप में वर्गीकृत है और विशेष रूप से ग्राम-नकारात्मक संक्रमण के साथ काम करता है। शरीर में इस दवा का प्रशासन इसे नस या मांसपेशियों में लगाने से किया जाता नकारात्मक संतुलन के खिलाफ सुरक्षा क्या है? है। फॉंटम 2 जीएम इंजेक्शन (Fortum 2gm Injection) का सेवन से बचा जाना चाहिए |

अगर आपके नकारात्मक संतुलन के खिलाफ सुरक्षा क्या है? पास सेफ्टाज़िडियम या एंटीबायोटिक दवाओं के अन्य सेफलोस्पोरिन वर्ग से एलर्जी है। आप क्लोरैम्पिनिकोल ले रहे हैं तो फॉंटम 2 जीएम इंजेक्शन (Fortum 2gm Injection) कुछ चिकित्सा स्वास्थों के साथ इंटरेक्शन कर सकते हैं। अपने चिकित्सक को सूचित करें, आपके पास इन मेडिकल स्वास्थों में से कोई भी महत्वपूर्ण है यदि आप गर्भवती हैं या जल्द ही गर्भवती होने, या स्तनपान कराने की नकारात्मक संतुलन के खिलाफ सुरक्षा क्या है? योजना बना रहे हैं। यदि आप पहले से ही कोई दवा, आहार पूरक या हर्बल तैयारी ले रहे हैं और आप अन्य दवाएं विशेष रूप से एमनिगोइकोसाइड, मूत्रवर्धक, क्लोरैम्फेनीकॉल या हार्मोनल गर्भनिरोधक गोलियां ले रहे हैं। यदि आप भोजन, दवाओं या अन्य किसी भी अन्य पदार्थों से एलर्जी है। यदि आपके पास पेट या आंत्र समस्याओं का इतिहास है| गुर्दा की समस्याएं या खराब पोषण फॉंटम 2 जीएम इंजेक्शन (Fortum 2gm Injection) से कई साइड इफेक्ट्स नहीं हैं। हालांकि, दुर्लभ मामलों में एलर्जी संबंधी प्रतिक्रियाएं और जठरांत्र संबंधी लक्षण त्वचा और सूजन पर लाल धारियों के साथ हो सकते हैं। आपकी खुराक आपकी आयु, आपके वजन, आपकी चिकित्सा स्थिति और संक्रमण के कारण बैक्टीरिया के प्रकार पर निर्भर करता है। यह वयस्कों और बच्चों के लिए भी भिन्न होता है। सबसे अच्छा परिणाम प्राप्त करने के लिए पूरी तरह से चिकित्सक के पर्चे का पालन करने की सलाह दी जाती है।

बायो-बबल का हो रहा है बुरा असर, मानसिक स्वास्थ्य की परेशानी से बचने के लिए संतुलन जरूरी

By: पीटीआई, एजेंसी | Updated at : 19 Sep 2021 02:32 PM (IST)

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के चिकित्सा विशेषज्ञों के अध्ययन के मुताबिक सख्त जैव-सुरक्षित माहौल (बायो-बबल) से जुड़े तनाव का खिलाड़ियों के मानसिक स्वास्थ्य पर ‘बुरा असर’ पड़ रहा है जिससे होने वाले नुकसान से बचने के लिए संतुलन बनाने की आवश्यकता है. सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड की एक रिपोर्ट के अनुसार, सीए के मानसिक स्वास्थ्य प्रमुख मैट बर्गिन और मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ जॉन ऑर्चर्ड ने ‘ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ स्पोर्ट एंड एक्सरसाइज मेडिसिन’ के लिए एक लेख में इसका जिक्र किया है.

उन्होंने लिखा, ‘‘ प्रतिस्पर्धा से जुड़े तनाव का लंबे समय में बुरा प्रभाव हो सकता है और यह संभव है कि घटना के सप्ताह या कुछ महीनों के बाद भी नकारात्मक प्रभावों का अनुभव किया गया हो.’’

वन्यजीव सप्ताह 2021 : प्राकृतिक संतुलन के लिए जरूरी है वन्य जीवों का संरक्षण

प्रदीप

शेयर करें:

वन्यजीव सप्ताह 2021 : प्राकृतिक संतुलन के लिए जरूरी है वन्य जीवों का संरक्षण

पने स्वार्थ के लिए प्रकृति का अंधाधुंध दोहन करने में डूबे इंसान को अब यह अंदाजा ही नहीं रह गया है कि वह अपने साथ-साथ लाखों अन्य जीवों के लिए इस धरती पर रहना कितना दूभर बनाता जा रहा है. हमने अपनी सुख-सुविधाओं और तथाकथित विकास के नाम पर धरती पर मौजूद संसाधनों का प्रबंधन और दोहन इस तरह से किया है कि दूसरे जीवधारियों के जीवन के आधार ही समाप्त हो गए हैं. विकास का सबसे बुरा शिकार वन हुए हैं. कितने ही पशु-पक्षियों की प्रजातियाँ विलुप्त हो चुकी हैं, तो कितनी नकारात्मक संतुलन के खिलाफ सुरक्षा क्या है? विलुप्ति कगार पर हैं.

क्या ब्लड ग्रुप का कोई गलत संयोग भी होता है और क्या इससे शिशु को नुकसान पहुंच सकता है?

अलग-अलग ब्लड ग्रप होने से पहली गर्भावस्थ में आपके या आपके शिशु को कोई नुकसान पहुंचने की संभावना नहीं होती। मगर, यदि आप रीसस नेगेटिव हैं और पहली गर्भावस्था में आपके गर्भ में रीसस-पॉजिटिव शिशु है, तो आपका रीसस फैक्टर आपकी भविष्य की गर्भावस्थाओं पर असर डाल सकता है।

ब्लड ग्रुप मुख्यत: चार तरह के होते हैं: ए, बी, एबी और ओ। हर किसी का ब्लड ग्रुप इन चार समूहों में से ही होता है। यदि आपका और आपके पति का ब्लड ग्रुप अलग है, तो इससे फर्क नहीं पड़ता। फर्क आपके रीसस फैक्टर से पड़ता है - आप रीसस-पॉजिटिव (आरएचडी-पॉजिटिव) हैं या रीसस-नेगेटिव (आरएचडी-नेगेटिव)।

जो लोग आरएचडी-पॉजिटिव है, उनकी लाल रक्त कोशिकाओं में एक प्रोटीन होता है, जिसे डी एंटीजेन कहा जाता है। यदि आप आरएचडी-नेगेटिव हैं, तो यह प्रोटीन नहीं होता।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

अमेरिकाः बाइडेन प्रशासन की यूक्रेन के लिए 1.85 अरब डॉलर के सैन्य सहायता की घोषणा

अमेरिकाः बाइडेन प्रशासन की यूक्रेन के लिए 1.85 अरब डॉलर के सैन्य सहायता की घोषणा

घने कोहरे की वजह से छाता नेशनल हाईवे पर ट्राली पलटने से हुआ बड़ा हादसा, 20 महिला, पुरुष व बच्चे गंभीर रूप से घायल

घने कोहरे की वजह से छाता नेशनल हाईवे पर ट्राली पलटने से हुआ बड़ा हादसा, 20 महिला, पुरुष व बच्चे गंभीर रूप से घायल

बांदा में फांसी पर लटका मिला नवविवाहिता का शव, ससुरालीजनों पर दहेज हत्या का FIR दर्ज

रेटिंग: 4.14
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 627