Intraday के लिए Stock कैसे चुने | intraday stock kaise select kare

Intraday के लिए Stock कैसे चुने– अच्छा कमाई करने के लिए सही शेयर का चुनना बहुत जरुरी हैं। आज हम जानेंगे अच्छा intraday stock kaise select kare कौन से ऐसे Criteria होना चाहिए जिसको फॉलो करने से आप ट्रेडिंग से अच्छा पैसा कमाई करने में आसानी हो।

Table of Contents

Intraday के लिए Stock कैसे चुने

Intraday Trading में आप बहुत ही कम समय के लिए काम करते हो। इसलिए आपका Stock Selection Perfect होना बहुत जरूरी हैं। आपको पहले दिन ही देखना चाहिए कौन से स्टॉक में आपको अगले दिन काम करना हैं। पहले से ही तैयारी करके रखना चाहिए। अगर मार्केट आपके हिसाब से काम करे तो आप अच्छा ट्रेड ले सको।

ज्यादा Liquidity स्टॉक चुने:- Intraday Trading में आपको सबसे पहले ज्यादा Liquidity वाले शेयर को ही चुनना चाहिए। Liquidity का मतलब जिस शेयर में Buyer और Seller ज्यादा होता हैं उसी को High Liquidity स्टॉक कहते हैं। अगर खरीदार और बेचनेवाले कम होंगे तब हो चकता है जिस वक्त आप शेयर को Sell करना चाहते हो उस वक्त आपको खरीदार ही ना मिले। इसलिए आपको Intraday के लिए ज्यादा Liquidity स्टॉक में ही ट्रेडिंग करना चाहिए।

ज्यादातर जो कंपनी बड़ी होती है उसमे उतना ही ज्यादा Buyer और Seller मजूद होता है। इसलिए आपको Large cap Stocks को सेलेक्ट करना चाहिए। इसमें आपको हर सेकंड पर इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं? खरीदार और बेचनेवाले मिल जायेंगे।

Top Gainers/ Top Loosers स्टॉक चुने:- आपको ट्रेडिंग करने के लिए पिछले दिन के ज्यादा बढ़नेवाले या गिरनेवाला शेयर को चुनना चाहिए। आपको आज ट्रेड करना है तो पिछले दिन के Gainers और Loosers स्टॉक के Chart को देखना चाहिए। अगर कोई स्टॉक ऊपर या नीचे जाने का पहला दिन हैं। तो आपको एसी स्टॉक को Intraday के लिए लेना चाहिए।

intraday stock kaise select kare

सेक्टर के आधार पर:- मार्केट में पिछले दिन किन सेक्टर में ज्यादा ऊपर नीचे हुआ है। आपको उसमे नजर रखना चाहिए। ट्रेडिंग के दिन जिस भी सेक्टर में आपको ऊपर या नीचे जाते नजर आ रहा है। उस सेक्टर में ट्रेड लेना है ऊपर जा रहा है तो ऊपर का लेना है और नीचे जा रहा है तो नीचे का ट्रेड लेना हैं। आपको मार्केट के हिसाब से चलना चाहिए। जिस तरफ मार्केट जा रहा है उसी दिशा में आपको ट्रेडिंग करना हैं।

न्यूज़ पे असर वाले स्टॉक:- जब भी कोई न्यूज़ आता है उस स्टॉक के बारे में इसका असर शेयर प्राइस पर होते देखना चाहिए। अगर कोई अच्छी खबर आता है तो उसकी प्राइस बढ़ने चाहिए और बुरी खबर आता है तो गिरावट देखना चाहिए। ये होना इसलिए जरुरी है क्युकी कोई अच्छा न्यूज़ आता है उसकी प्राइस बड़ेगी और उसमे ट्रेडिंग करके अच्छा पैसा कमाई कर पाओगे।

Intraday Stocks में क्या नहीं होना चाहिए

Small cap Stock नहीं होना चाहिए:- Intraday में आपको बिल्कुल Small cap Stock पर ट्रेडिंग नहीं करना चाहिए। Mid cap भी अच्छा है लेकिन Large cap Stock सबसे अच्छा हैं Intraday Trading के लिए।

Upper circuit / Lower Circuit स्टॉक:- एसी स्टॉक में आपको बिल्कुल ट्रेडिंग नहीं करनी है जिसमे Upper circuit या Lower Circuit को जल्दी हित करे। अगर कोई भी Intraday Stocks में ये जल्दी लगेगा तो आपको शेयर Buy और Sell करने में प्रॉब्लम होगा। इसलिए आपको एसी स्टॉक से दूर रहना हैं।

मार्केट गिरेगा या बढ़ेगा कैसे पता करे

Intraday Trading में मार्केट गिरेगा या बढ़ेगा इसमें नजर रखना बहुत जरुरी हैं। आपको जानना बहुत जरुरी है मार्केट किस तरफ जाने की संभावना ज्यादा हैं। ऐसे में आपको Global मार्केट को देखना बहुत जरुरी हैं। ये देखना इसलिए जरुरी है क्युकी आम तौर पर ऐसा देखा गया है जब भी Global Market गिरता है Indian मार्केट भी गिरता हैं।

और ऐसा इसलिए भी होता है आज के जो मार्केट है एक दुसरे में लिंक हैं। बहुत सारे ऐसे कंपनी है जो भारत में भी लिस्टेड है और Global बाज़ार में भी लिस्टेड हैं। अगर उसमे प्राइस गिरता है तो इसमें भी इसका असर देखने को मिलता हैं। इसलिए आपको Intraday ट्रेडिंग से पहले Global Market को देखना चाहिए। जिससे उसके आधार पर आप एक अच्छा फैसला ले सके।

Intraday-के-लिए-Stock-कैसे-चुने-intraday-stock-kaise-select-kare

Intraday Trading में नुकसान से बचने के लिए क्या करे

Stop Loss और Target जरुर लगाए:- Intraday Trading में Stop Loss और Target लगाना बहुत जरुरी हैं। अगर आप Stop loss नहीं लगायेंगे तो नुकसान होने की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी। और Target नहीं लगाया तो हो चकता है एक बार में अच्छा प्रॉफिट हो लेकिन ज्यादातर आपको नुकसान का सामना करना पर चकता हैं। इसलिए दोनों ट्रेड एक साथ डालना बहुत जरुरी हैं।

लालश से दूर रहे:- ट्रेडिंग से पहले आपने जो भी टारगेट के लिए ट्रेड लिया है उसको हासिल होने के बाद आप प्रॉफिट बुक कर ले और ज्यादा लालश के चक्कर में ना पड़े। ज्यादा देर तक ट्रेडिंग करते रहोगे तो बाद में नुकसान होने की संभावना बढ़ जाता हैं।

मेरी राय:-

शेयर मार्केट में Intraday Trading में बहुत ही रिस्क होता हैं। इसमें जितना जल्दी आप मुनाफा कमा चकते हो उतना जल्दी आप पैसा गवा भी चकते हो। अगर आपको यदि करना ही है तो सबसे पहले कम पैसे से सुरवात करना चाहिए। उतना ही पैसा ट्रेडिंग में लगाए जितना नुकसान होने पर भी ज्यादा फर्क ना पड़े। अगर आप practice और साथ साथ सीखते रहोगे तो जरुर एक सफल ट्रेडर बन पाओगे।

आशा करता हु आपको Intraday के लिए Stock कैसे चुने intraday stock kaise select kare पोस्ट को पढ़के अच्छी तरह से समझ गए होंगे कैसे एक अच्छा शेयर को चुने जाते हैं। अगर आपके मन में इससे जुड़ी कोई भी सवाल या इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं? सुझाब है तो कमेंट में जरुर बताए। शेयर मार्केट से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी के साथ अपडेट रहने के लिए जरुर हमारे साथ बने रहना चाहिए।

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए बेहतरीन शेयर कौन से है 2021

इंट्राडे ट्रेडिंग का अर्थ होता है कि स्टॉक मार्केट खुलने और बंद होने के अंतराल जो भी खरीदारी और बिकवाली होती है उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहते हैं शेयर बाजार का समय सुबह 9:15 से शाम 3:30 तक होता है इस बीच हम जब किसी शेयर की खरीदारी और बिकवाली करते हैं तो उसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहते हैं और ध्यान रहे जिस शेयर को आपने मार्केट के समय खरीदा है उसे मार्केट के बंद होने के अंतराल बेचना भी होता है इस प्रकार इंट्राडे ट्रेडिंग होती है

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए खरीदे गए शेयरों को 3:15 पर बेचना अनिवार्य हो जाता है यदि आपने 3:15 पर शेयर को नहीं बेचा तो वह मार्केट प्राइस पर ऑटो स्क्वायर ऑफ हो जाते हैं

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए बेहतरीन नियम

बताना चाहता हूं आपको शेयर बाजार की बहुत अच्छी समझ है तभी आप इंट्राडे ट्रेडिंग में कदम रखें अधिकांश व्यापारियों ने शेयर बाजार में इंट्राडे ट्रेडिंग में विशेष रुप से शुरुआती, शेयर बाजार में उच्च अस्थिरता के कारण इंट्राडे ट्रेडिंग में अपनी पूंजी खो देते हैं आमतौर पर शेयर बाजार में ट्रेडर्स के नुकसान, भय और लालच के कारण होता हैं क्योंकि शेयर बाजार बहुत ही चंचल होता है इंट्राडे ट्रेडिंग जोखिम से भरी होती है जबकि निवेश जोखिम से भरा नहीं है बस ज्ञान की कमी हो सकती है

इंट्राडे ट्रेडिंग के बुनियादी नियमों की सूची कुछ इस प्रकार है

1 बाजार में इंट्राडे के लिए समय बहुत महत्वपूर्ण है

2 पहले से ही योजना निवेश रणनीति बनाएं

3 छोटी मात्रा में इंट्राडे में निवेश करें

4 लालच और भय से दूर रहे

5 बाजार में पैसा कम समय ज्यादा वितीत करें

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए शेयरों का चुनाव कैसे करें

शेयर बाजार मैं आपको इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए कुछ रणनीति बताऊंगा। इंट्राडे के लिए शेयर चुनने के लिए सबसे पहले आपको लिक्विडिटी स्टॉक चुनना होगा। जबकि वोलेटाइल स्टॉक्स से दूरी बनाए रखना चाहिए। इंट्राडे के लिए कई सारे स्टॉक चुनने के बजाए आप सिर्फ 3-4 अच्छे स्टॉक का चुनाव करना चाहिए। शेयर चुनते समय बाजार का ट्रेंड भी देखना चाहिए और उस कंपनी के बारे में आपको जानकारी भी होना चाहिए बेहतर इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं? होगा कि आप एक्सपर्ट से भी सलाह लेलें। ज्यादा लिक्विडिटी वाले स्टॉक में उतार चढ़ाव काफी जल्दी जल्दी होते हैं। पैसा लगाने से पहले आप लक्ष्य और स्टॉपलॉस जरूर तय करें। और ज्यादा लालच नहीं करें और जो भी मुनाफा मिले उसे लेकर निकल जाए। आप जो भी स्टॉक इंट्राडे के लिए चुने उसे पहले से ही अपने वॉच लिस्ट में ऐड करके उस पर नजर बनाए रखें

इंट्राडे ट्रेडिंग से कमाई के लिए 5 बेहतरीन शेयर

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए हाई लिक्विडिटी वाले शेयर निम्नलिखित हैं इन शेयरों में रोजाना उतार-चढ़ाव आता रहता है। शेयर बाजार की अच्छी समझ और कंपनी के बारे में पुख्ता जानकारी आपको इंट्राडे में पैसा बनाने में मदद करेगी।

  1. रिलायंस
  2. एचडीएफसी बैंक
  3. बजाज फाइनेंस
  4. डिविस लैब
  5. हिंदुस्तान युनिलीवर

इंट्राडे ट्रेडिंग नियमित शेयर बाजार में निवेश की तुलना में जोखिम भरा है. शुरुआती लोगों के लिए महत्वपूर्ण है कि वे वित्तीय कठिनाइयों का सामना किए बिना केवल उस राशि का ही निवेश करें जिसे खोने पर कोई दुख ना हो.

इंट्राडे ट्रेडिंग के लाभ और हानि

अक्सर इंट्राडे व्यापार शेयर बाजार में तुरंत लाभ अर्जित करने के लिए माना जाता है। इंट्राडे ट्रेडिंग से रोजाना आप अपने निवेश पर बहुत अधिक रिटर्न पा सकते हैं. इसके लिए आपको अपने वित्त का प्रबंधन भी करना होगा। शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव बहुत जल्दी जल्दी आते हैं इसी का इंट्राडे निवेशक फायदा उठाते हो और बाजार से लाभ अर्जित करते हैं

अगर बात करें इंट्राडे ट्रेडिंग से हानि की तो इंट्राडे ट्रेडिंग जोखिमों से भरी होती है यहां शेयर बाजार में उतार चढ़ाव बहुत जल्दी जल्दी आते हैं अगर आपकी रणनीति गलत साबित होती है तो आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है क्योंकि यह बाजार के अंतराल ही की जाने वाली ट्रेडिंग होती है इसे आप लंबे समय तक होल्ड नहीं कर सकते

Stock market में यदि आप सूझबूझ से अच्छे स्टॉक चुनकर ट्रेड करते हैं तो आप भी यकीनन intraday trading में लाभ अर्जित कर सकते हैं

Intraday Trading For Beginners – Intraday Trading Kaise Kare In Hindi

दोस्तों अगर आप Intraday Trading करना चाहते है और शेयर मार्केट से पैसा कमाना चाहते हो तो यहाँ हम आपको इंट्रा डे ट्रेडिंग की बेजिक जानकारी देंगे, की इंट्राडे ट्रेडिंग केसे की जाती है, इंट्राडे ट्रेडिंग करते समय किन बातो क्या ध्यान रखना चाहिए?

What is Intraday Trading?

Intraday Trading

(Intraday Trading) इंट्राडे ट्रेडिंग, जिसे डे ट्रेडिंग (Day trading) के रूप में भी जाना जाता है, एक ही दिन में स्टॉक और अन्य वित्तीय साधनों की खरीद और बिक्री है।अधिक सरल शब्दों में, यदि आप सुबह शेयर खरीदते हैं और शाम को बेचते हैं, तो इस ट्रेडिंग को इंट्राडे ट्रेडिंग के रूप में जाना जाता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग की कुछ लाभ भी होते है और कुछ नुकसान भी हो सकता है। इसके लिए आपको शेयर मार्केट की जानकारी होनी चाहिए।

इंट्राडे ट्रेडिंग में आप एक दिन के अन्दर पैसा कमा सकते हो, आपको लम्बे समय तक राह नहीं देखनी पड़ती। आप आज पैसा लगायेंगे और आज ही कमाएंगे अगर आपको सही knowage हो तो। मान लो आपने अभी शेयर ख़रीदा और उसकी कीमत 5 मिनिट में बड गई और आप ने वो शेयर बेच डाला तो आपको तुरंत profit हो जायेगा अगर शेयर की प्राइस कम हो गई तो आपको नुकसान भी हो सकता है।

अगर आप कोई नोकरी करते हो या कोई और काम करते हो और शयेर मार्केट से पैसा कमाना चाहते हो तो Intraday Trading एक सही विकल्प है। लेकिन उसके लिए आपको knowage होना चाहिए वरना आपका नुकसान भी हो सकता है।

Intraday Trading Ki Basic Jankari In Hindi – Intraday Trading Beginners Guide

यह व्यापार किसी भी बाजार में हो सकता है लेकिन शेयर और विदेशी मुद्रा बाजार में नियमित रूप से किया जाता है। तो, इसका मतलब है कि इंट्राडे ट्रेडिंग में, बाजार के दिन के बंद होने से पहले सभी पदों का निपटान किया जाता है। इस वजह से, ट्रेडों के परिणामस्वरूप शेयरों के स्वामित्व में कोई परिवर्तन नहीं होता है।

अगर सही तरीके से किया जाए, तो इंट्राडे ट्रेडिंग एक बहुत ही आर्थिक रूप से मजबूत करियर विकल्प हो सकता है, भले ही आप समय-समय पर किसी न किसी पैच को हिट कर सकते हैं। हालांकि, शुरुआती लोगों के लिए इंट्राडे ट्रेडिंग थोड़ी अधिक चुनौतीपूर्ण होती है, और आपको शुरू करने से पहले गहन शोध और एक अच्छी रणनीति की आवश्यकता होती है।

हालांकि बाजार की अस्थिरता के कारण यह व्यापार काफी जोखिम भरा है, अगर वह बाजार की स्थितियों को जानता है और हर इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं? गुजरते सेकंड के साथ सतर्क रहता है तो वह भारी मुनाफा कमा सकता है।

आज, डे ट्रेडिंग शुरू करना बहुत आसान है। यदि आप आरंभ करना चाहते हैं, तो इंट्राडे ट्रेडिंग की मूल बातें समझने के लिए पढ़ें:

How to Make Intraday Trading Successful – इंट्राडे ट्रेडिंग को कैसे सफल बनाये

Make Intraday Trading

Knowledge and experience – ज्ञान और अनुभव –

Professional day traders के पास market-place का अच्छा ज्ञान होता है। यदि आप बुनियादी बातों को समझे बिना दिन के व्यापार का प्रयास करते हैं, तो आप पैसे खोने का जोखिम उठाते हैं।

जिन शेयरों का आप व्यापार करना चाहते हैं, उनकी एक इच्छा सूची बनाएं और अपने आप को चयनित कंपनियों और सामान्य बाजारों के बारे में सूचित रखें। व्यावसायिक समाचार स्कैन करें और विश्वसनीय वित्तीय वेबसाइटों पर जाएं।

जबकि तकनीकी विश्लेषण कौशल और चार्ट पढ़ने की क्षमता आसान कौशल हैं, विश्लेषण के माध्यम से प्राप्त आंकड़ों को समझने के लिए आपको बाजार को समझने की जरूरत है। आप जिस उत्पाद का व्यापार कर रहे हैं उसकी प्रकृति को लगन से समझने के लिए समय निकालें।

Start Small – शरुआत में छोटे शेयर या थोड़े शयेर ख़रीदे

शुरू करने के लिए, एक सत्र के दौरान अधिकतम एक से दो शेयरों पर ध्यान दें। केवल कुछ स्टॉक के साथ ट्रैकिंग और स्पॉटिंग के अवसर आसान हैं। अगर आप नए है और पहेली बार इंट्राडे ट्रेडिंग में काम करना चाहते हो तो आपको शरुआत के दोरान छोटे शेयर या कम शेयर ख़रीदे उससे आपको profit कम मिलेंगा और अगर नुकसान हुआ तो वो भी कम हुयेगा।

Stop-Loss – स्टॉप लॉस

इंट्राडे ट्रेडिंग में स्टॉप लॉस जरूर लगाएं। मार्केट में उछाल और गिरावट तेजी से आते है, पैसा लगाने के पहले उसका लक्ष्य और स्टॉप लॉस जरूर तय कर लेना चाहिए. जिससे टारगेट पूरा होते देख स्टॉक को सही समय पर बेचा जा सके.

इंट्रा डे ट्रेडिंग को सफल बनाने के लिए आपको निचे दी गई बाते ध्यान मं रखनी चाहिए
  1. इंट्रा डे में बहुत ज्यादा स्टॉक की जगह अच्छे 2-3 शेयर्स का चुनाव करना चाहिए.
  2. शेयर चुनते वक्त बाजार का ट्रेंड देखना चाहिए. इसके बाद कंपनी की पोर्टफोलियो चेक करें.
  3. इसमे उछाल और गिरावट तेजी से आते है, पैसा लगाने के पहले उसका लक्ष्य और स्टॉप लॉस जरूर तय कर लेना चाहिए. जिससे टारगेट पूरा होते देख स्टॉक को सही समय पर बेचा जा सके.

Intraday Trading Kaise Kare In Hindi

How इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं? to Get Started – शुरुआत कैसे करें

शेयर बाजार में ट्रेडिंग शुरू करने के लिए आपको एक ट्रेडिंग अकाउंट और एक डीमैट अकाउंट बनाना होगा। खाता बनाने के बाद, आपको इंट्राडे ट्रेडिंग में मदद करने के लिए कुछ टूल मिल सकते हैं। ट्रेडिंग शुरू करने से पहले, आपको दैनिक चार्ट्स की जांच करने में कुछ समय बिताना चाहिए ताकि आप मूल्य आंदोलन पैटर्न से खुद को परिचित कर सकें। ऐसे कई उपकरण हैं जो तकनीकी विश्लेषण प्रदान करते हैं और ये उपयोगी भी साबित हो सकते हैं।

आप ऑनलाइन खुद से ट्रेडिंग कर सकते हैं या ब्रोकर को ऑर्डर देकर शेयर का कारोबार कर सकते हैं। आप Trading App जरिये अपने मोबाइल में अपना डीमैट अकाउंट खोल इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करते हैं? सकते है। मार्केट की कई सारे Trading App है जैसे की Moneycontrol App, Stock Edge app, Zerodha Kite, IIFL Markets, Upstox PRO और कई सारे है। यहाँ क्लिक करके आप Best Share Market App in India | टॉप स्टॉक मार्केटिंग ऐप के बारे में भी जन सकते हो।

Commodity Market में भी कर सकते है इंट्राडे ट्रेडिंग, यहां जानिए इंट्राडे ट्रेड करने के 4 टिप्स

How to do Intraday Trading in Commodity market: शेयर मार्केट की तरह कमोडिटी मार्केट में भी इंट्राडे ट्रेडिंग किया जा सकता है। लेकिन उससे पहले आपको कुछ बुनियादी बातों का ज्ञान होना चाहिए। यहां हमने ऐसे ही 4 टिप्स बताए है।

How to trade intraday in commodity market: कमोडिटीज अभी बाजार में अधिक आकर्षक एसेट क्लास में से एक हैं। वे न केवल आपके जोखिम को हेज करने में आपकी मदद करते हैं, बल्कि अपने शॉर्ट टर्म प्राइस मूवमेंट से लाभ अर्जित करने के लिए भी अच्छे हैं। पिछले कुछ वर्षों में इस प्रक्रिया में भाग लेने वाले व्यक्तियों की बढ़ती संख्या के साथ, कमोडिटी ट्रेडिंग ने भारत में काफी अच्छी पकड़ बनाई है।

चूंकि भारत में कमोडिटी बाजार लगभग 9 बजे खुलता है और 11.30 बजे तक चलता है, यह इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए एक बहुत अच्छा दावेदार है। अगर आप सोच रहे हैं कि कमोडिटी मार्केट में इंट्राडे कैसे ट्रेड करें (How to trade intraday in commodity market), तो यह लेख आपके लिए है। आइए कुछ बातों के साथ शुरू करें, जिन पर आपको कमोडिटी इंट्राडे ट्रेडिंग में भाग लेते समय विचार करना चाहिए।

कमोडिटी मार्केट में इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें? | How to do Intraday Trading in Commodity Market?

यहां कुछ संकेत दिए गए हैं जिन्हें आपको इंट्राडे कमोडिटी ट्रेडिंग में भाग लेते समय हमेशा ध्यान में रखना चाहिए।

1) अपना ध्यान कुछ कमोडिटीज पर रखें

कमोडिटी इंट्राडे ट्रेडिंग में भाग लेने की कोशिश करते समय, अपना ध्यान केवल कुछ कमोडिटीज तक सीमित रखना जरूरी है। चूंकि प्रत्येक वस्तु और उन्हें प्रभावित करने वाले कारक अलग अलग हैं, इसलिए कई कमोडिटीज पर अपना हाथ आजमाने से आप मुश्किल में पड़ सकते हैं। इसलिए, इससे पहले कि आप इंट्राडे कमोडिटी ट्रेनिंग के लिए बाहर जाएं, केवल कुछ कमोडिटीज को चुनें और उनके साथ रहें।

2) ग्लोबल न्यूज पर ध्यान दें

अब एक बार जब आप उन कमोडिटीज को चुन लेते हैं जिनमें आप ट्रेड करना चाहते हैं, तो अगला कदम डोमेस्टिक और ग्लोबल दोनों समाचारों को पढ़ना है, जो इन कमोडिटीज की कीमत को प्रभावित कर सकते हैं। उदाहरण के लिए अगर आप कच्चे तेल के साथ कमोडिटी इंट्राडे ट्रेडिंग शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो आपको आदर्श रूप से मिडिल ईस्टर्न और OPEC देशों में होने वाली सभी घटनाओं से अवगत रहना चाहिए।

3) एसेट क्लास के बीच संबंध से अवगत रहें

ऐसी कई कमोडिटीज हैं जो अन्य एसेट के साथ पॉजिटिव और नेगेटिव दोनों सहसंबंधों का आनंद लेती हैं। उदाहरण के लिए, सोना और अमेरिकी डॉलर का नेगेटिव संबंध है। इसका अनिवार्य रूप से मतलब यह है कि जब अमेरिकी डॉलर मजबूत होता है, तो सोना कमजोर होता है और इसके विपरीत अमेरिकी डॉलर कमजोर होगा तो सोना मजबूत होगा। कमोडिटी ट्रेडिंग में प्रवेश करना, इस ज्ञान से लैस होकर आपको एक लंबा रास्ता तय करने में मदद मिल सकती है।

4) मानसून के आंकड़ों को समझें

धान, मक्का, चना और अन्य जैसी कृषि वस्तुओं की कीमत काफी हद तक मानसून पर निर्भर है। आदर्श से कम मानसून का मौसम खराब फसल का कारण बन सकता है, जो बदले में आपूर्ति को कम करेगा और कीमत में वृद्धि का कारण बनेगा। इसका उलटा भी सच है। इसलिए, इससे पहले कि आप इंट्राडे कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करें, मानसून के आंकड़ों और आउटलुक से अवगत होना उचित है।

Intraday Trading कैसे work करता है :

intraday tips

इंट्राडे ट्रेडिंग उनके लिए है जो सौदा को एक ही दिन के लिए खरीद -बेच करते हैं उन्हें शेयर को होल्ड नहीं करना होता है चाहे फ़ायदा हो या नुकसान वो सौदा को होल्ड नहीं करते है इन्हे जोखिम लेना पसंद होता है।

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए आपको एक ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता होगी जो आप निचे दिए गए लिंक के सहारे ट्रेडिंग अकाउंट खोल सकते हैं।

Intraday trading account खोलने के लिए यहाँ क्लिक करें।

जैसा कि नाम से ही मालूम होता है कि यह “एक दिन का सौदा” है यानि को आपको एक दिन के पुरे ट्रेडिंग सेशन में शेयर को ख़रीदा व् बेचा जाता है उसे अगले दिन के लिए होल्ड नहीं किया जाता हैं। SEBI के द्वारा आपको intraday के लिए आपको मार्जिन दिया जाता हैं जिस शेयर आपको खरीदना या बेचना है उसके वैल्यू का आपके पास 25% का बैलेंस होना चाहिए। इंट्राडे ट्रेडिंग का ब्रोकरेज डेलिवरी ट्रेडिंग के मुकाबले कम है

Intraday trading करते समय आपको MIS option सेलेक्ट करके ट्रेडिंग करना पड़ता है इस सेक्शन में आपके द्वारा खरीदा या बेचा गया माल आपको Square Off करना होता है। अर्थात आपके ट्रेडिंग अकाउंट में शेयर की संख्या को शून्य करना होता हैं चाहे आप शेयर buy या sell किये हों नहीं तो आपका ब्रोकरेज हाउस मार्केट के क्लोज होने के कुछ समय पहले आपके शेयर को auto Square Off कर देता हैं यानी की आपके द्वारा बेचा या ख़रीदा गया शेयर को आपके ट्रेडिंग अकाउंट में quantity शून्य कर देता है शेयर को खरीद या बेच कर।

17 Intraday Trading Tips |17 इंट्राडे ट्रेडिंग फार्मूला:

  • Highly volatile स्टॉक में Intraday Trading नहीं करना चाहिए। .
  • टी ग्रुप (टी २ टी )NSE पर BE ग्रुप में इंट्राडे ट्रेड नहीं होता है इसमें कोई शेयर buy करने पर compulsory delivery लेना पड़ता है।
  • मार्किट में अगर आप शार्ट सेल्लिंग करते हैं तो उसे मार्केट क्लोज होने से पहले स्क्वायर ऑफ करना पड़ता है अगर आप square off नहीं कर पाते हैं तो आपको ऑक्शन की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। इसमें आपको भारी penalty देना पड़ सकता हैं।
  • बाजार के मूड के साथ ट्रेड लें अगर बाजार अपट्रेंड में हो तो long करें ,अगर downtrend में हो तो short करें।
  • सही समय का इंतज़ार करे ,जल्दबाज़ी में शेयर न बेचें।
  • stop loss का मजबूती के साथ पालन करें।
  • इंट्राडे करने से पहले 10 लिक्विड शेयर्स का चयन कर उसपर ग्राफ,RSI ,और भी तकनीकी से स्टडी करें और अपनी योजना बनायें।
  • अधिकांशतः लार्ज कैप के शेयर में ही इंट्राडे करें क्योकि उसने ट्रेडिंग जयादा होती हैं।
  • ग्राफ का स्टडी 15 ,10 और 5 मिनट के टाइम फ्रेम के ऊपर स्टडी करें की आपका स्टॉक किस पैटर्न पर वर्क करता है ,कहाँ रेजिस्टेंस है कहाँ सपोर्ट लेवल है। स्टॉप लोस्स कहाँ लगाना है।
  • प्रॉफिट किस लेवल पर लेना है या कितना प्रतिशत पर सौदा काटना है पलहे से ही निर्धारित करें ,लालच में न पड़ें।
  • स्टॉक के खबरों पर विशेष नज़र रक्खे जैसे बोनस , स्प्लिट,डिविडेंट ,रिजल्ट।
  • इंट्राडे करते समय योजना के अनुसार कार्य करें इमोशनल न हो धैर्य से काम लें।
  • इंट्राडे करते समय सजग रहें और शेयर को वाच करते रहें अगर आपके अनुमान के उल्टा शेयर जा रहा हो तो तुरंत शेयर से निकल जाएँ।
  • बाजार के तुरंत खुलने व् बंद होने से 30 मिंट पहले इंट्राडे न करें क्योकि उस समय वोलैटिलिटी बहुत ज्यादा होती है।
  • अगर आपके पास होल्डिंग में शेयर पड़ा है तो उससे भी आप इंट्राडे कर सकते है केवल downtrend के समय आप अपना होल्डिंग शेयर बेंच दें और जब वह शेयर और भी निचे गिरकर चला जाये तो आप उसे buy के ले इस तरह आप को शेयर के खरीद व् बेच के बीच के अंतर का आपको फायदा हो जायेगा और शेयर भी आपके पास पड़ा रहेगा।
  • इंट्राडे में छोटे प्रॉफिट पर धयान दें ज्यादा के लालच में न पड़े।
  • overbought/oversold जोन को देखकर buy और sell करें।

Disclaimer:

आपका निवेश जोखिम के अधीन हैं इस पृष्ठ में निहित जानकारी ,नियम ,शर्त ,टिप्स केवल आपको समझने के लिए हैं न कि आपको निवेश के लिए बाध्य करता है आपका निवेश आपकी समझ और आपकी अपनी जिम्मेदारी पे निर्भर है न की किसी दूसरे पर।

रेटिंग: 4.59
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 736