स्टॉक एक्सचेंज पर अपने दमदार प्रदर्शन के विपरीत शीर्ष आईटी कंपनियां वित्त वर्ष 2021 में आय वृद्धि के मोर्चे पर कमजोर रहीं। शीर्ष पांच आईटी कंपनियों के एकीकृत शुद्ध मुनाफे में वित्त वर्ष 2021 के दौरान सालाना आधार पर महज 6.2 फीसदी की वृद्धि हुई जबकि पिछले विर्ष के दौरान गैर-आईटी कंपनियों के शुद्ध लाभ में 34 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई। इन कंपनियों की एकीकृत शुद्ध बिक्री में पिछले वित्त वर्ष के दौरान महज 5.6 फीसदी की स्टॉक मार्केट और स्टॉक एक्सचेंज में क्या अंतर होता है वृद्धि दर्ज की गई जबकि वित्त वर्ष 2020 में यह आंकड़ा 8.7 फीसदी रहा था। यह भारतीय उद्योग जगत द्वारा दर्ज राजस्व वृद्धि के मुकाबले अधिक थी। वित्त वर्ष 2021 स्टॉक मार्केट और स्टॉक एक्सचेंज में क्या अंतर होता है स्टॉक मार्केट और स्टॉक एक्सचेंज में क्या अंतर होता है में गैर-आईटी कंपनियों की एकीकृत शुद्ध बिक्री में 3.1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

आईटी: मूल्यांकन व आय वृद्धि में अंतर

देश की शीर्ष आईटी कंपनियों ने वैश्विक महामारी के बाद की अवधि में स्टॉक एक्सचेंज पर दमदार प्रदर्शन किए हैं। मार्च 2020 के बाद शीर्ष पांच आईटी कंपनियों- टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, इन्फोसिस, विप्रो, एचसीएल टेक्नोलॉजिज और टेक महिंद्रा- के एकीकृत बाजार पूंजीकरण में 87 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। इसके मुकाबले बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स में इस दौरान महज 68 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई। इस प्रकार आईटी उद्योग ने पिछले एक साल के दौरान व्यापक बाजार को एक बड़े अंतर के साथ पछाड़ दिया।

शीर्ष पांच आईटी कंपनियों का एकीकृत बाजार पूंजीकरण अब बढ़कर 23.2 लाख करोड़ रुपये हो चुका है जो वित्त वर्ष 2020 के अंत में 12.42 लाख करोड़ रुपये रहा था। इस क्षेत्र की सभी सूचीबद्ध कंपनियों के एकीकृत बाजार पूंजीकरण में इन पांच बड़ी आईटी कंपनियों का योगदान करीब 90 फीसदी है। वास्तव में मार्च 2021 में समाप्त वित्त वर्ष शेयर बाजार में प्रदर्शन के लिहाज से आईटी कंपनियों के लिए वित्त वर्ष 2010 के बाद सबसे अच्छा वर्ष रहा। वित्त वर्ष 2010 में पिछले महीनों के दौरान आईटी उद्योग ने 150 फीसदी की वृद्धि दर्ज की थी।

फीचर आर्टिकल: क्रिप्टो मार्केट बनाम स्टॉक मार्केट; दोनों ही मार्केट के अपने अपने फायदे-नुकसान

क्या मुझे क्रिप्टो मार्केट मैं इन्वेस्ट करना चाहिए? क्या क्रिप्टो मार्केट शेयर मार्केट से ज्यादा विश्वसनीय है? और इसी तरह के ढेरों सवालों की सूची है जो हम में से अधिकांश लोगों के मन में हैं और जिनका उत्तर हम चाहते हैं। क्रिप्टो मार्केट और स्टॉक मार्केट दोनों ही मार्केट के अपने अपने फायदे-नुकसान हैं, लेकिन इससे पहले कि आप इनमें से किसी में निवेश करें, आपको यह जानना होगा कि आखिर ये दोनों मार्केट क्या हैं; इन दोनों में क्या समानताएं और क्या अंतर हैं, वे कौन सी बातें हैं जो उनकी कीमतों को और मार्केट में प्रवेश को तय करती हैं।

मुझे कहां निवेश करना चाहिए – क्रिप्टो या शेयर?
स्मार्ट निवेशक वही है जो इस बात को बखूबी जानता है कि वह किसमें निवेश कर रहा है और उसके पास अपने निवेश से संबंधित ठोस जानकारी होनी चाहिए। निवेश के जोखिम और पुरस्कार को पहले से आंकना उसकी सफलता की कुंजी है। किसी निवेशक के प्राथमिक लक्ष्यों में से एक अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाना होता है; अपने पोर्टफोलियो में क्रिप्टो और स्टॉक को शामिल करने से आपका पोर्टफोलियो मजबूत होता है।

3 महीने में 350% का रिटर्न, एक महीने में ही डबल हुआ लोगों का पैसा

3 महीने में 350% का रिटर्न, एक महीने में ही डबल हुआ लोगों का पैसा

एक आईपीओ (IPO) ने पिछले 3 महीने में जबरदस्त रिटर्न दिया है। यह रेहतन टीएमटी (Rhetan TMT IPO) का आईपीओ है। आयरन और स्टील प्रॉडक्ट्स बनाने वाली कंपनी के शेयरों ने पिछले 3 महीने में 350 पर्सेंट के करीब रिटर्न दिया है। लिस्टिंग के बाद रेहतन टीएमटी (Rhetan TMT) के शेयर 67 रुपये से बढ़कर 300 रुपये के करीब पहुंच गए हैं। कंपनी के शेयरों का 52 हफ्ते का लो लेवल 50.60 रुपये है।

3 महीने में ही 1 लाख रुपये के बन गए 4 लाख से ज्यादा
रेहतन टीएमटी (Rhetan TMT) के शेयर 5 सितंबर 2022 को स्टॉक एक्सचेंज में स्टॉक मार्केट और स्टॉक एक्सचेंज में क्या अंतर होता है लिस्ट हुए थे। कंपनी के शेयर 70 रुपये के इश्यू प्राइस पर अलॉट हुए थे। रेहतन टीएमटी के शेयर 5 सितंबर 2022 को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 66.50 रुपये के स्तर पर थे। कंपनी के शेयर 5 दिसंबर 2022 को 299.05 रुपये के स्तर पर ट्रेड कर रहे हैं। रेहतन टीएमटी के शेयरों ने पिछले 3 महीने में 349.70 पर्सेंट का रिटर्न इनवेस्टर्स को दिया है। अगर किसी व्यक्ति ने 5 सितंबर 2022 को कंपनी के शेयरों में 1 लाख रुपये लगाए होते तो मौजूदा समय में यह पैसा 4.49 लाख रुपये होता।

स्टॉक मार्केट और स्टॉक एक्सचेंज में क्या अंतर होता है

SHARE MARKET: ग्लोबल संकेतों के चलते दबाव में शेयर बाजार, जानें कैसी रही आज की शुरुआत

नई दिल्ली: अमेरिकी बाजार में गिरावट का असर घरेलू बाजार पर दिखा है। आज सेंसेक्स 439 अंकों की गिरावट के साथ 62395 के स्तर पर खुला है। निफ्टी 100 अंकों की गिरावट के साथ 18600 पर खुला। शुरुआती कारोबार में बाजार पर दबाव है। सेंसेक्स 62450 के नीचे फिसल गया और निफ्टी 18600 के नीचे ट्रेड कर रहा है। वहीं आज इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक, बजाज फाइनेंशियल सर्विसेज जैसे स्टॉक्स में तेजी है।

निफ्टी के टॉप गेनर्स और लूजर्स

वहीं आज निफ्टी के टॉप गेनर्स कि लिस्ट मेंअदानी एंटरप्राइजेज, हिंदुस्तान यूनिलीवर, ब्रिटानिया, बजाज फाइनेंस, एसबीआई लाइफ, एक्सिस बैंक, टाटा मोटर्स, अदानी पोर्ट्स, बजाज-ऑटो, कोटक बैंक, आईटीसी रहे है। साथ ही निफ्टी के टॉप लूजर्स की लिस्ट में हिंडाल्को, टाटा स्टील, जेएसडब्ल्यू स्टील, टेकम, यूपीएल, ओएनजीसी, एचसीएल टेक, इंफी, टीसीएस, डॉ रेड्डी, हीरो मोटोकॉप, बीपीसीएल, आईसीआईसीआई बैंक, आयशर मोटर्स, सन फार्मा, अपोलो हॉस्प, ग्रासिम, कोल इंडिया, विप्रो, अल्ट्रा सीमेंटहै।

Sula Vinyards IPO : सुला वाइनयार्ड्स का IPO सोमवार को होगा लॉन्च, सब्सक्रिप्शन से पहले GMP क्या दे रहा है संकेत?

इंडिया.कॉम लोगो

इंडिया.कॉम 1 दिन पहले [email protected] (India.com News Desk)

Sula Vinyards IPO : भारत की सबसे बड़ी शराब निर्माता सुला वाइनयार्ड्स (Sula Vineyards) शेयर बाजार की स्टॉक मार्केट और स्टॉक एक्सचेंज में क्या अंतर होता है स्टॉक मार्केट और स्टॉक एक्सचेंज में क्या अंतर होता है ओर बढ़ रही है और अगले सप्ताह सोमवार, 12 दिसंबर, 2022 को अपना आरंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (IPO) लेकर आ रही है. इसका प्राइस बैंड 340-357 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. यह बुधवार, 14 दिसंबर को बंद होगा. प्राइस बैंड के ऊपरी सिरे पर, पब्लिक इश्यू से 960 करोड़ मिलने की उम्मीद है.

सुला वाइनयार्ड्स आईपीओ पूरी तरह से प्रमोटर, निवेशकों और अन्य शेयरधारकों द्वारा कुल 26,900,532 इक्विटी शेयरों की बिक्री (OFS) की पेशकश होगी, जिसमें सुला वाइनयार्ड्स के संस्थापक और सीईओ राजीव सुरेश सामंत द्वारा शेयरों की बिक्री के साथ-साथ बेल्जियम निवेश भी शामिल होगा. फर्म वर्लिन्वेस्ट और कोफिन्ट्रा एसए.

रेटिंग: 4.39
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 471