तेज शुरुआत के बाद फिसला बाजार
सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार (Share Market) बीते दिन की भारी गिरावट से उबरते हुए हरे निशान पर खुला था. लेकिन खुलने के तुरंत बाद ही इसमें फिर से गिरावट शुरू हो गई. सुबह 9.15 बजे Sensex ने 190 अंकों की तेजी के साथ 61,257 अंकों पर कारोबार की शुरुआत की थी. वहीं Nifty 90 अंकों की उछाल के साथ 18,288 अंक के लेवल पर खुला था. लेकिन इसके बाद जो गिरावट का सिलसिला शुरू हुआ, वो दिन का कारोबार खत्म होने तक चालू रहा.

FPI invest 11599 crore in indian share market (Jagran File Photo)

बिजनेस डे क्या है?

यह वित्तीय बाजारों में एक प्रसिद्ध समय माप इकाई है जो मूल रूप से उस दिन को संदर्भित करता है जिसमें व्यवसाय का संचालन होता है। आमतौर पर, एक व्यावसायिक दिन सोमवार से शुक्रवार सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक माना जाता है और इसमें सप्ताहांत और सार्वजनिक अवकाश शामिल नहीं होते हैं।

Business day

प्रतिभूति उद्योग में, जिस दिन में कारोबार दिन व्यापार के लिए वित्तीय बाजार खुलते हैं, उसे कारोबारी दिन माना जाता है।

व्यावसायिक दिनों का उदाहरण

मान लीजिए कि आप एक चेक जमा करना चाहते हैं जिसे तत्काल समाशोधन की आवश्यकता है। चेक की राशि और जारीकर्ता के स्थान के आधार पर, इसे क्लियर होने में 2-15 कार्यदिवस लग सकते हैं। और, इन दिनों में अनिवार्य सार्वजनिक अवकाश और सप्ताहांत शामिल नहीं हैं, जो निकासी के समय को और भी बढ़ा सकते हैं।

व्यावसायिक दिन भी उपयोग करने लायक होते हैं जब यह संदेश देने की बात आती है कि कोई वस्तु कब वितरित की जाएगी। मान लीजिए कि कोई उत्पाद है जिसे 3 व्यावसायिक दिनों दिन में कारोबार के भीतर वितरित करना है। यदि कोई सप्ताहांत या कोई सार्वजनिक अवकाश शामिल हो तो यह एक बड़ा अंतर पैदा कर सकता है।

व्यावसायिक दिनों को समझना

यदि आप वित्तीय बाजारों में एक अंतरराष्ट्रीय लेनदेन करना चाहते हैं, तो आपको व्यावसायिक दिनों के बारे में पता होना चाहिए क्योंकि दिन में कारोबार वे एक देश से दूसरे देश में भिन्न होते हैं। हालांकि अधिकांश देश सप्ताह के दिनों में प्रति सप्ताह लगभग 40 घंटे काम करते हैं, फिर भी ध्यान में रखने के लिए एक बड़ा अंतर है।

उदाहरण के लिए, मध्य पूर्वी देश रविवार से गुरुवार को अपना कार्य सप्ताह मानते हैं। और, कुछ अन्य देशों में, सोमवार से शनिवार कार्य सप्ताह है।

लिस्टिंग के बाद Sula Vineyards के शेयरों में सपाट कारोबार, पहले दिन दिखी पॉजिटिव ग्रोथ

Sula Vineyards के शेयरों की लिस्टिंग के बाद इसका कारोबार शुरू हो चुका है। पहले दिन की शुरुआत सपाट देखी गई है। वहीं इनकी मांग बढ़ने की उम्मीद है। बता दें कि सुला वाइनयार्ड्स का आईपीओ 12 दिसंबर से 14 दिसंबर 2022 तक खुला था।।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Sula Vineyards Shares: वाइन उत्पादक और विक्रेता में से एक सुला वाइनयार्ड्स लिमिटेड (Sula Vineyards Limited) के शेयरों की लिस्टिंग होते ही इसमें पॉजिटिव ग्रोथ देखी गई। सुला वाइनयार्ड्स लिमिटेड के शेयरों ने गुरुवार को एनएसई पर 361 रुपये प्रति शेयर की स्टॉक लिस्टिंग के साथ बाजार में अपनी शुरुआत की। वहीं, कंपनी ने अपने शेयरों की कीमत 340 रुपये से 357 रुपये प्रति शेयर निर्धारित किया था। बीएसई पर, सुला वाइनयार्ड के शेयरों ने 358 रुपये प्रति शेयर पर कारोबार करना शुरू किया।

IPO में मिला अच्छा दिन में कारोबार रिस्पॉन्स

सुला वाइनयार्ड्स के आईपीओ को अच्छा रिस्पॉन्स मिला था। आईपीओ में QIB के लिए रिजर्व 50 प्रतिशत हिस्सा 4.13 गुना और NII के लिए रिजर्व 15 प्रतिशत हिस्सा 1.51 गुना सब्सक्राइब हुआ था, जबकि रिटेल के लिए रखे गए 33 प्रतिशत हिस्से को 1.65 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था।

Best and Worst perfroming stocks in nifty 2022 (Jagran File Photo)

एंकर निवेशकों से कंपन ने 288 करोड़ रुपये जुटाए। वहीं, पूंजी 22 निवेशकों द्वारा जुटाई गई थी। इनमें बीएनपी परिबास आर्बिट्रेज, मॉर्गन स्टेनली (एशिया) सिंगापुर पीटीई लिमिटेड, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स मॉरीशस प्राइवेट लिमिटेड, गोल्डमैन सैक्स और अबू धाबी निवेश प्राधिकरण शामिल हैं।

दिन में कारोबार के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 19 लाख करोड़ रुपये के पार हुआ

बाजार पूंजीकरण के इस निशान को पार करने वाली आरआईएल पहली भारतीय कंपनी बन गई।

बीएसई पर दिन के कारोबार के दौरान आरआईएल का शेयर 1.85 प्रतिशत बढ़कर 2,827.10 रुपये के रिकॉर्ड उच्चस्तर पर पहुंच गए।

शेयर की कीमत में तेजी के बाद बीएसई में सुबह के कारोबार में कंपनी का बाजार पूंजीकरण 19,12,दिन में कारोबार 814 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

हालांकि, कारोबार के अंत में आरआईएल का शेयर 2,777.90 पर बंद हुआ। इस बंद भाव पर कंपनी का बाजार पूंजीकरण 18,79,237.38 करोड़ रुपये था।

इससे पहले इस साल मार्च में आरआईएल का बाजार पूंजीकरण 18 लाख करोड़ रुपये के पार चला गया था।

इस साल अब तक आरआईएल के शेयर 17 फीसदी से ज्यादा चढ़े हैं।

धनतेरस पर दो दिन में करीब 45 हजार करोड़ का व्‍यापार, दिवाली पर 1.50 लाख करोड़ के कारोबार का अनुमान

धनतेरस पर दो दिन में करीब 45 हजार करोड़ का व्‍यापार, दिवाली पर 1.50 लाख करोड़ के कारोबार का अनुमान

देश भर में ग्राहकों ने धनतेरस के मौके पर जमकर खरीदारी की. (प्रतीकात्‍मक)

कोरोना की पाबंदियां हटने के बाद देश भर में कारोबार को गति मिली है. इससे व्‍यापारियों ने राहत की सांस ली है. इस बार देश भर में पंचांग तिथि के अनुसार कल और आज दो दिन धनतेरस का त्‍योहार मनाया गया. एक अनुमान के मुताबिक, देश भर में इस दौरान करीब 45 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का व्यापार हुआ है. इसमें अकेले ज्‍वैलरी के व्‍यापार का आंकड़ा करीब 25 हजार करोड़ हैं. वहीं दिवाली के अवसर पर बिक्री का आंकड़ा 1.50 लाख करोड़ तक पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है.

यह भी पढ़ें

धनतेरस के दिन संसाधनों की खरीदी की जाती है और इसी दृष्टि से देश भर में व्यापारी वर्ग दीपावली की पूजा एवं कारोबार के लिए आवश्‍यक संसाधनों की खरीद बड़े पैमाने पर करते हैं. जानकारी के मुताबिक देश भर में ज्‍वैलरी के अलावा दूसरे सेग्‍मेंट में भी ग्राहकों ने जमकर खरीदारी की है. जहां ज्‍वैलरी की 25 हजार करोड़ की खरीदारी हुई है, वहीं पर ऑटोमोबाइल, दिन में कारोबार कम्यूटर एवं कंप्यूटर से संबंधित सामान, फर्नीचर, घर एवं कार्यालयों की साज सज्जा के लिए जरूरी सामान, मिठाई एवं नमकीन, किचन का सामान, सभी प्रकार के बर्तन, इलेक्ट्रॉनिक्स, मोबाइल और इससे जुड़ी चीजों की करीब 20 करोड़ की बिक्री हुई है.

कॉन्‍फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि कल और आज दो दिन में देश भर के बाजारों में ग्राहकों की भीड़ उमड़ी. उन्‍होंने कहा कि भारतीय सामान खरीदने की उत्सुकता का आकलन इस बात की पुष्टि करता है कि कोरोना के कारण दो साल बाजार से दूर रहने वाले ग्राहक अब वापस बाजार में पूरे जोर शोर से आ गए हैं.

शेयर बाजार पर Corona का साया, लगातार दूसरे दिन Sensex धड़ाम. निफ्टी भी फिसला

कोरोना के मामले बढ़ने का शेयर बाजार पर असर

  • नई दिल्ली,
  • 22 दिसंबर 2022,
  • (अपडेटेड 22 दिसंबर 2022, 4:14 PM IST)

चीन (China) समेत दुनिया के कई देशों में जैसे-जैसे कोविड-19 (Covid-19) का कहर बढ़ रहा है. तमाम देशों की वित्तीय हालात गड़बड़ाने लगी है. Stock Markets पर भी कोरोना का साया साफ नजर आने लगा है. भारतीय शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन में कारोबार दिन भारी गिरावट देखने को मिली. बीएई का सेंसेक्स (BSE Sensex) गुरुवार को 200 अंक से ज्यादा टूटकर बंद हुआ. बीते कारोबारी दिन बुधवार दिन में कारोबार को भी 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स 635 अंक फिसल गया था.

रेटिंग: 4.48
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 245