जोखिम की चेतावनी: ट्रेडिंग जोखिम भरा है। आपकी पूंजी जोखिम में है। अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें Exinity Limited FSC (मॉरीशस) द्वारा विनियमित है।

Scroll Top

प्रमुख FX युग्मों पर जीरो स्प्रेड सहित अधिक पाएं।

डेस्कटॉप, वेब या मोबाइल पर
MetaTrader 4 एवं MetaTrader 5

EUR/USD पर 0.1 से तंग स्‍प्रेड और तेज ट्रेड निष्पादन

लचीले लीवरेज और 0.01 लॉट से ट्रेड आकार 1:1 से 1:2000 तक

विशेषज्ञों से फ्री ट्रेडिंग शिक्षा और बाजार अंतर्दृष्टि

आज ही ट्रेडिंग शुरू करने के लिए अपना अकाउंट खोलें!

एडवांटेज अकाउंट: $500+ बैलेंस

प्रमुख FX युग्‍मों पर सामान्‍यतया जीरो स्‍प्रेड, प्रतिस्‍पर्धी कमीशन, हर दौर की पेशकश

एडवांटेज प्‍लस अकाउंट: $500+ बैलेंस

कोई कमीशन नहीं, सुपर टाइट स्‍प्रेड

माइक्रो अकाउंट: $500+ बैलेंस

टाईट स्‍प्रेड और कोई कमीशन नहीं, छोटे आकार के ट्रेड

प्रश्‍न?

हमसे चौबीसों घंटे संपर्क करें

अनेक न्यायालयों से लाइसेंस प्राप्‍त और विनियमित, दुनिया भर में हम 150 से अधिक देशों में
ग्राहकों को सर्व करते हैं। इन सभी क्षेत्रों में हम रिटेल ग्राहकों के लिए अलग-अलग फंड ऑफर करते हैं।

FXTM चुनने के और अधिक कारण

फ्री शैक्षिक संसाधनों से अपना कौशल विकसित करें

  • सेमिनार या वेबिनार में हमारे विशेषज्ञों के साथ शामिल हों
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग पाठ्यक्रम में शामिल हों
  • ई-बुक्स और मार्केट आउटलुक डाउनलोड करें

अपनी ट्रेडिंग दक्षता अधिकतम करें

  • तंग स्‍प्रेड से ट्रेडिंग लागत कम करें (0.1 से EUR/USD)
  • लचीले लीवरेज से अधिक ट्रेडिंग पॉवर तक एक्‍सेस पाएं
  • सुपरफास्ट निष्पादन से पोजीशनों की सही योजना बनाएं

दुनिया का पसंदीदा प्लेटफॉर्म, MetaTrader चुनें

  • MetaTrader 4 या MetaTrader 5 की आपकी पसंद
  • डेस्कटॉप, मोबाइल या ब्राउज़र के माध्यम से उपलब्ध
  • आपके कार्यक्षेत्र के मानक दृश्य या कस्टमाइज़ करें

FXTM इनवेस्ट अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें के साथ कॉपीट्रेड करें

  • कॉपी करने के लिए 5,000 से अधिक ट्रेडिंग स्‍ट्रेटजियां चुनें
  • कॉपीट्रेडिंग शुल्क का भुगतान केवल लाभदायक ट्रेडों पर करें
  • सिर्फ $100 से शुरु करें

मुफ्त में होगी ट्रेनिंग और मिलेंगे पैसे भी, ​फिर पाएं नौकरी या करें स्वरोजगार, है न कमाल का प्लान!

मुफ्त में होगी ट्रेनिंग और मिलेंगे पैसे भी, ​फिर पाएं नौकरी या करें स्वरोजगार, है न कमाल का प्लान!

देश के युवाओं की प्राथमिकताएं क्या हैं? उनके लिए बड़ी समस्याएं क्या हैं? कौन सी चुनौतियां हैं, जो उनके भविष्य में बाधा उत्पन्न करती है? इन सवालों के मूल में बस दो ही बातें हैं. पहली- उनकी शिक्षा. यहां शिक्षा से मतलब वैसी पढ़ाई है, जो उन्हें रोटी दे सके. और दूसरी बात है नौकरी या स्वरोजगार की.

उच्च शिक्षा के बावजूद भी जब नौकरी नहीं मिल पाती तो युवा तनाव में रहने लगते हैं. कई सर्वेक्षणों में यह बात सामने आ चुकी है कि युवा पढ़ाई तो पूरी कर लेते हैं, लेकिन उनमें स्किल यानी कौशल नहीं होता. बड़ी-बड़ी कंपनियां इसी वजह से प्लेसमेंट कैंप के बावजूद उन्हें काम पर नहीं रखतीं.

क्या है इस योजना का उद्देश्य?

इस योजना का उद्देश्य देश के युवाओं को इं​डस्ट्री से जुड़ी ट्रेनिंग देना अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें है, जिससे उन्हें रोजगार पाने में मदद मिल सके. बाजार में किस सेक्टर में कैसे स्किल की जरूरत है, उसके मुताबिक इसके कार्यक्रम तैयार किए गए हैं. सरकार इस योजना के जरिये कम पढ़े लिखे या 10वीं, 12वीं ड्राप आउट यानी पढ़ाई के बीच में स्कूल छोड़ने वाले युवाओं को स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग देती है.

Skill India Mission

Skill India Mission

सरकार ही देती है फीस, मिलते हैं पैसे भी

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना(PMKVY) में युवाओं को नजदीकी प्रशिक्षण केंद्रों पर ट्रेनिंग दी जाती है. ट्रेनिंग देने वाले संस्थान को फीस का भुगतान सरकार ही करती है. यहीं नहीं, प्रशिक्षण पूरा करने पर सर्टिफिकेट तो मिलता ही है, सरकार प्रशिक्षु युवाओं को करीब 8000 रुपये तक की पुरस्कार राशि भी देती है. सरकार अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें का लक्ष्य साल 2020 तक PMKVY के तहत एक करोड़ युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देने का था. हालांकि कोरोना लॉकडाउन के कारण यह काफी हद तक प्रभावित रहा.

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) में आवेदक को अपना पंजीकरण और नामांकन कराना जरूरी होता है. इसके लिए http://pmkvyofficial.org पर जाकर अपना नाम, पता और ईमेल आदि जानकारी भरनी होती है.

आवेदन के बाद युवा जिस तकनीकी क्षेत्र में ट्रेनिंग करना चाहते हैं, उन्हें चुनना होता है. इस योजना के तहत कंप्यूटर ट्रेनिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड हार्डवेयर, फूड प्रोसेसिंग, कंस्ट्रक्शन, फर्नीचर फिटिंग, हैंडिक्राफ्ट, जेम्स एंड ज्वेलरी और लैदर टेक्नोलॉजी समेत 40 सब्जेक्ट निर्धारित हैं. अपनी पसंद का सब्जेक्ट चुनने के अलावा एक अन्य तकनीकी क्षेत्र का भी चयन करना होता है.

नौकरी दिलाने में मदद करती है सरकार, कर सकते हैं स्वरोजगार भी

PMKVY योजना में 3 महीने, 6 महीने और 1 साल के लिए ट्रेनिंग पाठ्यक्रम चलाए जाते हैं. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद युवाओं का SSC द्वारा स्वीकृत मूल्यांकन एजेंसी की ओर से मूल्यांकन किया जाएगा. पास होने पर वैध आधार (AADHAAR) नंबर के साथ आपको सरकारी सर्टिफिकेट अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें और स्किल कार्ड मिलता है

प्रशिक्षण के बाद मिलने वाला सर्टिफिकेट पूरे देश में मान्य होता है. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद सरकार आर्थिक सहायता करती है और साथ ही नौकरी दिलाने में भी मदद करती है. इसके लिए राज्यों में नियोजन विभाग की ओर से जिलावार रोजगार मेले लगाए जाते हैं. इलेक्ट्रॉनिक्स, फर्नीचर, हैंडिक्राफ्ट आदि ट्रेड में प्रशिक्षित होने के बाद आप अपना खुद का रोजगार भी शुरू कर सकते हैं.

Intraday Trading से कमाना चाहते है खूब पैसा? तो इन 9 टिप्स को करें फॉलो

Intraday Trading से कमाना चाहते है खूब पैसा? तो इन 9 टिप्स को करें फॉलो

Intraday Trading: शेयर मार्केट में हर कोई इंट्राडे ट्रेडिंग करके पैसा कमाना चाहता है, लेकिन यह उतना भी आसान नहीं और न ही उतना कठिन है। तो अगर आप भी Intraday Trading से पैसा कमाना चाहते है तो यहां बताएं गए 9 टिप्स को फॉलो करें।

Make Money from Intraday Trading: इंट्राडे ट्रेडिंग उसी दिन (स्टॉक एक्सचेंज के खुलने और बंद होने के घंटों के भीतर) शेयरों को खरीदने और बेचने का कार्य है, जिसका उद्देश्य उसी दिन प्रॉफिट बुक करने के लिए बाजार की अस्थिरता का लाभ उठाना है। यह बहुत अधिक रिटर्न की क्षमता के साथ आता है, इस प्रकार का व्यापार भी बहुत जोखिम भरा होता है। खरीदे गए शेयर को उसी दिन बेचे जाने की आवश्यकता होती है, वरना वे अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें आपके एकाउंट में आटोमेटिक रूप से वितरित हो जाते हैं।

आ गई सेब की नई किस्म, कम ठंड में भी होगा बंपर उत्पादन, ये महिला किसान कर रही बेहतर कमाई

Apple Cultivation: मणिपुर के उखरूल जिले के पोई गांव में रहने वाली ऑगस्टिना औंग्शी शिमरे अपने बाग में सेब की नई प्रजाति की खेती सफलतापूर्वक की. अपनी पहली उपज के रूप में शिमरे लगभग 160 किलो सेब उगाया, जिसे उन्होंने 200 रुपये प्रति किलो की अच्छी कीमत पर बेचा.

मणिपुर की महिला किसान ऑगस्टिना औंग्शी शिमरे. (Photo- PIB)

Apple Cultivation: कृषि वैज्ञानिकों ने सेबी की नई प्रजाति विकसित की है. साल 2019 में, इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालय जैवसंपदा प्रौद्योगिकी संस्थान (CSIR-IHBT)), पालमपुर, हिमाचल प्रदेश के सहयोग से उत्तर पूर्वी क्षेत्र सामुदायिक संसाधन प्रबंधन सोसायटी (NERCRMS), NEC, भारत सरकार ने उखरूल जिले में सेब की कम ठंड वाली प्रजाति पेश की. इस पहल को फार्मिंग कम्युनिटी सहित अलग-अलग सरकारी और गैर-सरकारी एजेंसियों से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली.

महिला किसान ने ट्रेनिंग लेकर शुरू की सेब की खेती

इस पहल के तहत, मणिपुर के उखरूल जिले के पोई गांव में रहने वाली ऑगस्टिना औंग्शी शिमरे का चयन सेब की खेती करने वाले लाभार्थी के रूप में किया गया. उन्होंने अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें अन्य किसानों के साथ हिमालय जैवसंपदा प्रौद्योगिकी संस्थान (CSIR-IHBT), पालमपुर, हिमाचल प्रदेश में प्रशिक्षण प्राप्त की. क्षमता-निर्माण समर्थन प्राप्त होने बाद, शिमरे ने अपने बाग में सेब की खेती सफलतापूर्वक की.

low chilling varieties of apple

राज्य सरकार से मिली आर्थिक मदद

मणिपुर के उखरूल जिले में जलवायु की स्थिति सेब की खेती के लिए अनुकूल है. उनकी सफलता से प्रेरित होकर, कुछ अन्य किसानों ने अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें भी सेब की खेती शुरू की. उनके कोशिशों के लिए मणिपुर के मुख्यमंत्रीएन. बीरेन सिंह ने उन्हें सम्मानित किया. बाद में, उन्हें सेब की खेती और फसल के बाद उसका प्रबंधन में प्रशिक्षण देने के लिए राज्य सरकार से वित्तीय सहायता भी प्राप्त हुई.

अपनी पहली उपज के रूप में शिमरे लगभग 160 किलो सेब उगाया, जिसे उन्होंने 200 रुपये प्रति किलो की अच्छी कीमत पर बेचा. उन्होंने उनके जीवन को रूपांतरित करने और उन्हें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के लिए NERCRMS, NEC, भारत सरकार के प्रति अपना आभार व्यक्त किया. आज, उन्होंने आत्मनिर्भरता के एक नए अर्थ को महसूस किया है और उनकी कहानी उत्तर पूर्व भारत के एग्री कम्युनिटी के लिए प्रेरणादायक है.

अपनी ट्रेडिंग योजना विकसित करें

Login
Register

Share the Vibes A+ A-

--> -->

गांधीनगर में गिफ्ट सिटी (Gift City), जो पीएम मोदी (PM Modi) का ड्रीम प्रोजेक्ट था, जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे, अब इसका आकार तीन गुना बढ़कर 3318 एकड़ हो गया है। गुजरात सरकार (Government of Gujarat) ने चुनाव से पहले गिफ्ट सिटी (GIFT city) के लिए निर्दिष्ट क्षेत्र में वृद्धि को मंजूरी दे दी थी।

गिफ्ट सिटी (Gift City) अहमदाबाद को राजधानी गांधीनगर के साथ जुड़वा शहर बनने में मदद करेगी। वास्तव में, अहमदाबाद, गिफ्ट सिटी और गांधीनगर के त्रिकोणीय शहर बनने की संभावना है। क्षेत्र में वृद्धि के क्षेत्रीय लोगों ने धन्यवाद ज्ञापित किया। गिफ्ट सिटी (Gift City) को वित्तीय सेवाओं (financial services) का वैश्विक केंद्र बनने की कल्पना की गई है। यह पहले से ही यह देश का पहला अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र (IFSC) का घर है। गिफ्ट सिटी में एनएसई, आईएमडीआईए, आईआईबीएक्स और आईएनएक्स जैसे वित्तीय संस्थान भी मौजूद हैं। GIFT सिटी में दो अंतर्राष्ट्रीय एक्सचेंज हैं, जिनकी औसत दैनिक ट्रेडिंग मात्रा 11 बिलियन डालर है। इसके अलावा यहां 13 फिनटेक संस्थाएं और भारतीय और विदेशी बैंक भी हैं।

रेटिंग: 4.18
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 636