हालांकि वास्तविकता में, प्रत्येक व्यक्ति की विभिन्न परिस्थितियों और वित्तीय हालत के अनुसार अलग इक्विटी निवेश में मौलिक विश्लेषण क्या है अलग निवेश आवंटन की जरूरत हो सकती है। ऐसेट एलोकेशन को समझने के लिये आपको विभिन्न कारको की भी जानकारी होनी चाहिये जैसे-आयु, व्यवसाय, आप पर निर्भर परिवार के सदस्यों की संख्या आदि। सामान्यतः जितने अधिक आप युवा हैं उतने ही जोखिम भरे निवेश आप रख सकते हैं जिनसे आपको बेहतर रिटर्न मिले।

एक निवेश संगठन क्या है?

इसे सुनेंरोकेंनिवेश प्रबंधन, निवेशकों के फायदे के लिए निवेश के विशिष्ट लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए विभिन्न प्रतिभूतियों (शेयर, बांड और अन्य प्रतिभूतियां) और परिसंपत्तियों (जैसे अचल संपत्ति) का पेशेवर प्रबंधन है।

इसे सुनेंरोकेंनिवेश प्रक्रिया की यह प्रथम इक्विटी निवेश में मौलिक विश्लेषण क्या है अवस्था है । प्रत्येक निवेशक विनियोग करने से पहले निवेश नीति का सृजन करता है । इसमें निवेश का उद्देश्य विनियोग बाजार एवं प्रतिभूति के बारे में जानकारी निवेश के लिए उपलब्ध कोष आदि पर विचार किया जाता है । (i) विनियोगीय फण्ड्स (Investible Funds):

निवेश विकल्पों के विभिन्न रूप क्या हैं?

  • अध्याय 1: निवेश की आवश्यकता इक्विटी निवेश में मौलिक विश्लेषण क्या है – भाग 1.
  • अध्याय 2: निवेश के लिए आवश्यकताएं – भाग 2.
  • अध्याय 3: विभिन्न निवेश के रास्ते – इक्विटी निवेश
  • अध्याय 4: विभिन्न निवेश के रास्ते – ऋण निवेश
  • अध्याय 5: विभिन्न निवेश एवेन्यू – इक्विटी निवेश में मौलिक विश्लेषण क्या है रियल एस्टेट और गोल्ड
  • अध्याय 6: निवेश के लिए जोखिम इनाम मैट्रिक्स

शिक्षा को एक निवेश क्यों समझा जाता है?

इसे सुनेंरोकेंदूसरे शब्दों में आप कह सकते हैं कि देश, समाज एवं परिवार के विकास की प्रत्येक प्रविधि शिक्षा के विकास पर आधारित है और शिक्षा ही विविध प्रकार की उत्पादकता को जन्म देने में सार्थक है अत: शिक्षा पर किया गया पूँजीगत व्यय ही निवेश के रूप में जाना जाता हैं।

इसे सुनेंरोकेंनिवेश या विनियोग (investment) का सामान्य आशय ऐसे व्ययों से है जो उत्पादन क्षमता में वृद्धि लायें। यह तात्कालिक उपभोग व्यय या ऐसे व्ययों संबंधित नहीं है जो उत्पादन के दौरान समाप्त हो जाए। निवेश शब्द का कई मिलते जुलते अर्थों में अर्थशास्त्र, वित्त तथा व्यापार-प्रबन्धन आदि क्षेत्रों में प्रयोग किया जाता है।

निवेश क्या है क्या यह अटकलों से अलग है?

इसे सुनेंरोकेंनिवेश से तात्पर्य किसी ऐसी संपत्ति की खरीद से है जो रिटर्न पाने की उम्मीद से है। शब्द अटकलें पर्याप्त लाभ की उम्मीद में, एक जोखिम भरा वित्तीय लेनदेन करने के एक अधिनियम को दर्शाता है। निवेश में, निर्णय मौलिक विश्लेषण, यानी कंपनी के प्रदर्शन के आधार पर लिए जाते हैं।

नये म्युचु्अल फंड निवेशकों के लिये कुछ सुझाव

हेमंत रस्तोगी, सीईओ , वाइज इन्वेस्ट एडवाइजर्स प्राईवेट लिमिटेड (CEO, Wiseinvest Advisors Pvt. Ltd)

पहली बार म्यूचुअल फंड में निवेश करने वाले निवेशकों को अधूरी जानकारी होती है और ज्यादातर वे निवेश की परिस्थितियों में आने वाली अनिश्चितताओं से प्रभावित हो जाते हैं। लेकिन म्यूचुअल फंड निवेश में बाजार के समय से भी अधिक महत्वपूर्ण बातें हैं जो ध्यान रखनी चाहिये।

सबसे पहले ध्यान रखे

एक महत्वाकांक्षी यूनिट धारक को सबसे पहले ये तय करना चाहिये कि वो किस तरह के पोर्टफोलियो (निवेश सूची) का निर्माण करना चाहता है। दूसरे शब्दों में उसे अपनी सम्पत्ति के सही विनियोजन का फैसला करना चाहिये।ये ऐसेट एलोकेशन (इक्विटी निवेश में मौलिक विश्लेषण क्या है asset allocation) कहलाता है। ऐसेट एलोकेशन वो तरीका है जो ये निर्धारित करता है कि आप इक्विटी निवेश में मौलिक विश्लेषण क्या है अपने पैसे को विभिन्न निवेशों में कैसे लगायें जिसमें सम्पत्ति के सभी वर्गों का उचित मिश्रण हो।

रेटिंग: 4.38
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 232